तो मारीशस के PM को काशी के हुनर का नायाब तोहफा भेंट करेंगे मोदी !

0
32

नारस। प्रवासी भारतीय दिवस को वाराणसी के हस्तशिल्पियों ने ख़ास बनाने का ज़िम्मा लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मारीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ का स्‍वागत करने के लिये बनारस के हस्तशिल्पियों ने नायाब तोहफे तैयार कर के रखे हुए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन नायाब तोहफों को 22 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस सामरोह के उद्घाटन के दौरान मारीशस के प्रधानमंत्री को भेंट कर सकते हैं। जीआई विशेषज्ञ डॉ रजनीकांत ने बताया कि जैसे ही विदेश मंत्रालय से इस बात की स्वीकृति मिलेगी इसे टीएफसी पहुंचा दिया जाएगा।

जीआई विशेषज्ञ डॉ रजनीकांत ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काशी का सांसद बनने के बाद यहां के हुनर और हुनरबाजों को नई पहचान मिली है। इसका सम्मान करते हुए प्रधानमंत्री के हर काशी दौरे पर उन्हें अपने हाथ से बना हस्तशिल्प का नायाब नमूना हस्‍तशिप्‍ली भेंट करते आए हैं। इस बार प्रधानमंत्री के साथ आने वाले मेहमानों को भी नायाब तोहफा देने की तैयारी है।

डॉ रजनीकांत ने बताया कि 21, 22 और 23 जनवरी को होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के मुख्य अतिथि मारीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ और प्रधानमंत्री को भेंट करने के लिए हस्तशिल्पियों ने कुछ भेंट तैयार किया है। इसमें बच्चा लाल मौर्या द्वारा सॉफ्ट स्टोन से मारीशस का राष्‍ट्रीय पक्षी डोडो तैयार किया है, जिसे मारीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ को भेंट किया जाएगा।

इसके अलवा दस्तकार शादाब आलम के निर्देशन में कुशल कारीगरों द्वारा मारीशस का नेशनल अम्बलम तैयार किया गया है। वहीं चांदपुर, लोहता की हुनारबाज़ आफरीन और दिव्या ने ज़रदोज़ी से प्रवासी भारतीय दिवस का अंगवस्त्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मारीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ के लिए तैयार किया है। इस अंगवस्त्रम को पहले हैंडलूम पर बुना गया है उसके बाद इसपर ज़रदोज़ी का कार्य किया गया है।