नारस। यदि कोई मंदिर बनाना चाहता है, तो मंदिर बनना चाहिए, लेकिन इसके अलवा भी बहुत सी चीजें आवश्यक हैं, उन्हें भी होना चाहिए। आखिर हमें विकास का सही अर्थ कब पता चलेगा। उक्त बातें 15वें प्रवासी भारतीय दिवस पर प्रधानमंत्री के बुलावे पर वाराणसी पहुंची राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की परपोती ताराबाई चटर्जी ने राम मंदिर निर्माण के सवाल के जवाब में कही। उन्होंने आगे कहा कि जब तक हमा मानसिक विकास सही नहीं होता तब तक विकास का सही अर्थ नहीं पता चलेगा।

मानसिक विकास की आवश्यकता
15वें प्रवासी भारतीय दिवस में पहुंची राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की परपोती ताराबाई चटर्जी ने राम मंदिर निर्माण पर अपना पक्ष रखा और कहा कि राम मंदिर निर्माण यदि सब चाहते हैं तो ज़रूर हो, लेकिन देश में और भी कई आवश्यकताएं हैं। उन्हें भी पूरा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें विकास का सही अर्थ तब तक पता नहीं चलेगा जब तक की हमारा मानसिक विकास नहीं होगा। उन्होंने कहा तो मंदिर तो हर जगह हैं, जहां-जहां आस्था है वहां-वहां मंदिर है। यदि कोई मंदिर बनाना चाह रहा है तो बनाए। मेरा कोई विचार नहीं है इस बारे में।

विज्ञापन

वाराणसी आना तीर्थ यात्रा
वहीं वाराणसी आगमन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि ये बहुत ही सुन्दर और पवित्र अवसर है। यहां आना एक तीर्थ यात्रा है, जहां तुलसीदास ने रामायण की रचना की हो वहां आकर गंगा आरती करना और देखना बहुत ही अभूतपूर्व अनुभव रहा। इस दौरान अपने विशाल प्रवासी भाई- बहनों से मिलकर बहुत ही प्रसन्नता हुई।

अभी सर्वोदय की आज़ादी नहीं मिली
महात्मा गांधी के मकसद और आज के देश में क्या राष्ट्रपिता का मकसद पूरा हो रहा है के जवाब में उनकी परपोती ताराबाई चटर्जी ने कहा कि गांधी जी ने अपने अच्छे साथियों के साथ मिलकर अहिंसक क्रांति द्वारा देश को आजादी और राजनीति की आजादी दिलाई, लेकिन सर्वोदय की कक्रांति अभी बाकी है, और जब तक सर्वोदय की क्रांति हमे नही मिलेगी तब तक हमे हमारी पूरी आजादी नही मिलेगी।

नागरिक को अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए
वहीं मौजूदा सरकार पर प्रशन करने पर ताराबाई चटर्जी ने कहा कि मै किसी सरकार के बारे में नहीं कहूँगी। गांधी जी और कस्तूरबा की जब हम 150वीं जयंती मना रहे हैं तब हम नागरिक अभिनन्द कर रहें हैं। गांधी ने सत्ता नही ली वो न तो प्रधानमंत्री बने और ही राष्ट्रपति बने। वो तो राष्ट्रपिता बने इसलिए नागरिक की बात करिए। सरकार किसी की हो, नागरिक को अपनी जिम्मेदारी समझना चाहिए।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।