महात्मा गांधी आज एक ऐतिहासिक आवश्यकता बन गए हैं : डॉ नीलकंठ तिवारी

0
11

नारस।आज पूरा देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि मना रही है, इसी क्रम में आज मैदागिन स्तिथ टाउनहाल में गाँधी जी के जयंती के अवसर पर सूबे के राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करते हुए बापू के आदर्शो को अपनाने का अपील किया।

इस अवसर पर प्रदेश के राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने कहा कि गांधीजी के सत्य और अहिंसा के विचार न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया के लिए व्यापक महत्व रखते हैं। जब कर्म, जाति, भाषा और राष्ट्रीयता इत्यादि के नाम पर घृणा का माहौल बन गया हो, ऐसे में इससे उबरने के लिए मानवता के सामने गांधी ही एकमात्र विकल्प हैं।

मानवीय मूल्यों में आ रही है गिरावट
उन्होंने कहा कि आज हम पर्यावरण के विघटन का भी सामना कर रहे हैं और मानवता के नैतिक और मानवीय मूल्यों में गिरावट आती जा रही है। हमें चाहिए कि अपने दशकों के अनुभव के आधार पर गांधी को हम फिर खोजें और प्रेम व अहिंसा की गतिशीलता को समझकर युवा पीढ़ी के सामने गांधी को ले जाएं।

डॉ नीलकंठ तिवारी महात्मा गांधी की पुण्य तिथि के अवसर पर बुधवार को मैदागिन स्थित टाउनहॉल मैदान में समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित समस्त वर्ग के छात्रों को छात्रवृत्ति स्वीकृति एवं वितरण मेगा शिविर समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

इस अवसर पर जनपद के पूर्व दशमोत्तर कक्षा के 32217 छात्र-छात्राओं को 743.41 लाख तथा दशमोत्तर कक्षा के 71250 छात्र-छात्राओं को 6069.27 लाख रुपए के छात्रवृत्ति की स्वीकृति के सापेक्ष मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने अग्रसेन बालिका इंटर कॉलेज, हरिश्चंद्र बालिका इंटर कॉलेज एवं वल्लभ विद्यापीठ बालिका इंटर कॉलेज की छात्राओं को प्रतीक रूप में छात्रवृत्ति स्वीकृति पत्र उपलब्ध कराया।

उन्होंने रामचंद्र रामादेवी, सुभाष चंद जायसवाल, चुन्नी देवी, लालजी पांडे, कल्लू प्रसाद, मृत्युंजय प्रसाद, लालचंद, जगदंबा देवी, राजकुमार गुप्ता, रन्नो देवी एवं खटाईलाल को वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृति पत्र उपलब्ध कराया। साथ ही 8 दिव्यांग जनों को ट्राई साइकिल भी वितरित किया।

मौके पर मौजूद विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि बृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों के बैंक खातों में पेंशन की धनराशि स्थानांतरित कराया जाना सुनिश्चित किया जाए।

छात्रों के छात्रवृत्ति की धनराशि भी संबंधित छात्रों के बैंक खातों में यथासमय उपलब्ध कराया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने समाज कल्याण विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि वृद्धावस्था, विधवा आदि पेंशन के जो भी वास्तविक लाभार्थी इस योजना से लाभान्वित होने से तक वंचित हो, उनके औपचारिकता पूर्ण कराते हुए पेंशन योजना से उन्हें लाभान्वित कराया जाए।

इस अवसर पर जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी एवं मंत्री के प्रतिनिधि आलोक कुमार श्रीवास्तव प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।