VIDEO : श्रीकाशी विश्‍वनाथ के दरबार में मत्‍था टेकने पहुंचीं बहुचर्चित साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर

नारस। 2008 में हुए मालेगांव बम धमाके में एटीएस द्वारा गिरफ्तार और सबूतों के आभाव में नौ साल बाद 2017 को कोर्ट से बरी हुईं साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर रविवार को वाराणसी में श्रीकाशी विश्‍वनाथ मंदिर दर्शन-पूजन करने पहुंचीं। यहां दर्शनोपरांत मीडिया से बातचीत में साध्‍वी ने बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को विधर्मी महिला बताते हुए कहा है कि वर्तमान केंद्र सरकार से देश के विधर्मी और अधर्मी डरे हुए हैं।

वहीं राममंदिर निर्माण को लेकर पूछे गये सवाल पर साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि जब श्रीराम चाहेंगे तो मंदिर बनना शुरू हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि ढांचे को तोड़ने के लिये मैं अयोध्‍या गयी थी और राममंदिर के निर्माण के लिये भी अयोध्‍या जाऊंगी।

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने मीडिया से पूछा कि इस पांच साल में राम मंदिर के लिये प्रश्‍न पूछ रहे हैं तो आपको 70 वर्ष में कांग्रेस से भी सवाल पूछना चाहिए कि राम मंदिर क्‍यों नहीं बना। उन्‍होंने कांग्रेस को विधर्मी करार देते हुए कहा कि वह आज भी अपनी गतिविधियों को नहीं छोड़ रही है।

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने इस बात से इनकार कर दिया कि राममंदिर के मुद्दे को लेकर संत समाज बीजेपी और मोदी सरकार से खफा है। उन्‍होंने बिना बीजेपी या मोदी सरकार का नाम लिये कहा कि हर सनातनी ये जानता है कि अगर मंदिर बनना होगा तो इसी माहौल में बनेगा। साध्‍वी ने भरोसा दिलाया कि आने वाली सरकार भी राष्‍ट्रवादियों की ही होगी और एक राष्‍ट्रवादी ही प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठेगा।

पश्‍चिम बंगाल में योगी आदित्‍यनाथ के हेलीकॉप्‍टर के घुसने पर रोक लगाने के मुद्दे पर पूछे गये सवाल के जवाब में साध्‍वी ने ममता बनर्जी को विधर्मी महिला करार दे डाला। उन्‍होंने कहा कि किसी को रोकना न रोकना का फैसला राजनीतिक हो सकता है मगर ममता बनर्जी एक विधर्मी महिला हैं जो इस राष्‍ट्र को तोड़ना चाहती हैं।

मीडिया से बात करते हुए साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हम अयोध्या में ढंचा गिराने के लिए भी गए थे और भव्य मंदिर के निर्माण के लिए भी जाएंगे।

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने श्रीकाशी विश्‍वनाथ कॉरीडोर को लेकर भी मोदी सरकार की तारीफ की। उन्‍होंने कहा कि वे बचपन में यहां आईंं थी उस समय की यादें आज भी ताजा हैं जब यहां जगह-जगह गुटखे खाकर थूके हुए थे, तब और आज में बहुत अंतर देखने को मिला है। अब ये पूरा इलाका काफी साफ सुथरा हो चला है और तो और विश्‍वनाथ कॉरीडोर इस पूरे इलाके के पुनर्निर्माण की बहुत की सराहनीय पहल है। इसकी हर कोई तारीफ कर रहा है।

देखें वीडियो