नारस। समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने को लेकर दिन भर प्रदेश में राजनितिक माहौल गरम रहा। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जिला मुख्यलय पर उग्र सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रतीकात्मक पूतला फूंकते हुए कलेक्ट्रेट के अंदर पुलिस से नोकझोक करते हुए डीएम पोर्टिको तक पहुँच गए यहां उन्हें धरना देते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस विरोध प्रदर्शन में बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी साथ दिया।

प्रदर्शन कर रहे महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल ने कहा कि जिस तरह से हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष को रोका गया हैं वह आम आदमी को मिले संवैधानिक अधिकार का हनन हैं। ये केंद्र और प्रदेश सरकार का तानाशाही रवैय्या हैं। इसका हमलोग कड़ा विरोध करते हैं हम सब सपा के लोग यह मांग करते हैं की अखिलेश यादव के साथ हुए इस कृत्य पर यदि सीएम योगी माफी नहीं मांगते हैं तो हम सब सपा कार्यकर्ता भी जब वे काशी आएंगे तो उनका यहां विरोध करते हुए यहाँ उन्हें विचरण करने नहीं दिया जायेगा।

विज्ञापन

वही सपा द्वारा डीएम पोर्टिको में चल रहे प्रदर्शन में गठबंधन के तहत बसपा के कार्यकर्ताओ ने भी वहां पहुंचकर अपना समर्थन दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए कई थाने की फ़ोर्स मौके पर पहुँच गई थी। धरनास्थल पर जिला प्रशासन की तरफ से सपा के पदाधिकारियों ने एसडीएम को अपना राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देते हुए विरोध जताया। क्षेत्राधिकारी कैंट डॉ अनिल कुमार ने बताया कि प्रदर्शनकारी अपना ज्ञापन देना चाह रहे थे जिसे जिला प्रशासन की तरफ से ले लिया गया हैं।

विज्ञापन
Loading...