नारस। शिव नगरी इस वर्ष पड़ने वाली महाशिवरात्रि पर महादेव के उद्घोष से बम-बम है। महाशिवरात्रि पर्व पर कुंभ के अंतिम स्नान के लिए सभी अखाड़े वाराणसी पहुंचे हैं और इस शुभ दिन सुबह से अखाड़ों के स्नान के साथ बाबा भोलेनाथ का दर्शन हो रहा है। श्रद्धालु जहां देर रात से लाइन में लगकर बाबा विश्वनाथ का दर्शन प्राप्त करने को आतुर दिखे तो वहीं अड़भंगी भोले के अड़भंगी भक्त नागा सन्यासी बाबा विश्वनाथ के दरबार में हज़ारों की संख्या में पहुँच रहे हैं। इस दौरान बाबा को श्रद्धालु भांग, धतूरा और बेलपत्र अर्पित कर रहे हैं।

आस्था और धर्म की नगरी काशी में कुंभ के कल्पवास के बाद बाबा विश्वनाथ के भक्त मौनी अमावस्या से आना शुरू हो चुके थे. पर सोमवार को पड़ी महाशिवरात्रि पर जन सैलाब बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए काशी में उमड़ा है। सुबह सवेरे पंचदशानाम जूना अखाड़े के साथ सभी अखाड़ों ने मां गंगा में स्नान के बाद बाबा विश्वनाथ के दर्शन किए।

विज्ञापन

इस मौके पर जूना अखाड़े के संत ने बताया कि आज के दिन हम सदियों से बाबा विश्वनाथ के दरबार में आ रहे हैं। आज के दिन हम बाबा विश्वनाथ की विशेष पूजा करते हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष हम सभी बाबा विश्वनाथ से यह प्रार्थना करेंगे कि देश से उग्रवाद और आतंकवाद पूरी तरह से खत्म हो जाए और देश का कल्याण हो।

महाशिवरात्रि पर्व के दौरान पूरे शहर में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। खुद एसपी सिटी पूरे मेला क्षेत्र में पैदल भ्रमण कर सुरक्षा की कमान संभाले हुए हैं।

विज्ञापन
Loading...