नारस। लोकसभा चुनाव -2019 की अधिसूचना आने में अब बहुत ही कम समय बचा है। इस बार वाराणसी लोकसभा क्षेत्र के लिये चुनाव में 81 हज़ार नये मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे। मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत इस वर्ष वाराणसी निर्वाचन क्षेत्र से 81 हज़ार नये मतदाताओं का नाम जोड़ा गया है, तो वहीं 50 हज़ार से अधिक का नाम लिस्ट से काटा भी गया है।

अपर जिलधिकारी प्रशासन राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि लोकसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग द्वारा चलाए गए मतदाता सूची पुनरीक्षण के अंतरगत वाराणसी में 81 हज़ार 795 नये मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं, जिनमें 42 हज़ार 546 पुरुष और 39 हज़ार 249 महिलाएं शामिल हैं। इसके अलावा 52 हज़ार 646 नाम मतदाता सूची से हटाए गए हैं। ये मृतक, शिफ्टेड और डुप्लीकेट मतदाता थे।

अधिकारी ने बताया कि सबसे ज़्यादा नये मतदाता कैंट विधानसभा क्षेत्र में जोड़े गये हैं। यहां 13 हज़ार 230 मतदाताओं ने अपना नाम जोड़वाया है। इसी प्रकार सबसे कम रोहनिया में 7 हज़ार 580 नये मतदाता जुड़े हैं। इसके अलावा पिंडरा विधानसभा में 8 हज़ार 542, अजगरा विधानसभा में 11 हज़ार 959, शिवपुर विधानसभा में 9 हज़ार 189, शहर उत्तरी विधानसभा में 10 हज़ार 662, शहर दक्षिणी में 11 हज़ार 380 और सेवापुरी में 9 हज़ार 255 नये मतदाता जोड़े गये हैं।

अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने बताया कि मतदाता सूची मे शामिल न हो पाने वाले लोग ऑनलाइन या ईआरओ के ज़रिये अपना नाम चुनाव नामांकन के एक दिन पहले तक जुड़वा सकते हैं।