नारस। थाना भेलूपुर में दिनांक 30 जुलाई 2017 को दर्ज किये गये दुष्‍कर्म के केस में आखिरकार पुलिस की पैरवी काम आयी। वाराणसी की फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में अपर सत्र न्‍यायाधीश ने तमाम गवाहों और सबूतों को मद्देनरजर रखते हुए आरोपी को मुजरिम करार दे दिया है।

कोर्ट ने दुष्‍कर्मी हिमांशु सिंह, निवासी विशुनपुर थाना लोहता को धारा 376 में दोष सिद्ध करते हुए 10 वर्ष के कठोर करावास व एक लाख रुपये के अर्थ दण्ड की सजा सुनायी है।

पुलिस के अनुसार 30 जुलाई 2017 में भेलूपुर थाने में मुकदमा अपराध संख्‍या 441/17 धारा 376 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसकी पैरवी प्रभारी निरीक्षक भेलूपुर द्वारा की जा रही थी। इस मामले में दिनांक 6 मार्च 2019 को कोर्ट ने अभियुक्त को दोषी करार देते हुए सजा सुना दी है।