File Image

नारस। प्रधानमंत्री के 8 मार्च को वाराणसी आगमन के मद्देनज़र सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा की कमान 12 आईपीएस आफिसर के काँधे पर होगी। गुरूवार को एडीजी पीवी रामा शास्त्री, जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह, आईजी विजय सिंह मीणा और एसएसपी सुरेश राव आनंद कुलकर्णी ने पुलिस लाइन में फ़ोर्स को उनकी ड्यूटी समझाई और सुरक्षा के साथ कोई भी खिलवाड़ न किए जाने का निर्देश दिया गया।

इसके बाद डमी फ्लीट का पुलिस लाइन से काशी विश्वनाथ मंदिर तक और फिर वहां से वापस पुलिस लाइन तक रिहर्सल किया गया। इसके अलावा एयर फ़ोर्स के हेलीकाप्टरों ने पुलिस लाइन हेलीपैड और ऐढ़े गांव के हेलीपैड पर टच एंड जो का रिहर्सल किया।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था में इस बार 15 एडिशनल एसपी, 35 डिप्टी एसपी, 3 हज़ार दरोगा, हेड कांस्टेबल व सिपाही, 10 कंपनी पीएसी, सीपीएमएफ के जवान, बम निरोधक दस्ता, एंटी माइंस डिटेक्शन यूनिट, डॉग स्क्वाएड तैनात रहेगा। इसके अलावा विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना के शिलान्यास के दौरान गंगा में जल पुलिस, पीएसी बाढ़ रहत दल, एवं 11 NDRF के जवान मुस्तैद रहेंगे।

देश के मौजूदा हालात को देखते हुए थल सेना, वायू सेना और जल सेना के जवान हर समय अलर्ट मोड़ पर रहेंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री के रुट पर रूफ टॉप ड्यूटियां लगाईं जाएगी।