नारस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव के पहले 19 वे दौरे पर शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुँचे। लाल बहादुर शास्‍त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री की आगवानी राज्यपाल राम नाईक और सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने की।

इसके बाद प्रधानमंत्री हेलीकॉप्‍टर के जरिये सीधे पुलिस लाइन पहुंचे। यहां से प्रधानमंत्री का काफिला काशी विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचा। इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र पांडेय और विधायक पिंडरा डॉ अवधेश सिंह मौजूद रहे।

विज्ञापन

काशी विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सबसे पहले बाबा विश्‍वनाथ के मंदिर में मत्‍था टेका। यहां विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, यूपी के राज्‍यपाल राम नाईक और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ विश्‍वनाथ कॉरीडोर स्‍थित शिलान्‍यास स्‍थल पहुंचे।

प्रधानमंत्री ने यहां वैदिक मंत्रोत्‍चार के बीच पांच विशेष ईंट के जरिये शुरुआती 360 करोड़ रुपये की लागत से चार चरणों में बनने जा रहे श्रीकाशी विश्‍वनाथ धाम सुंदरीकरण योजना का शिलान्‍यास किया। प्रधानमंत्री ने इस दौरान वहां मौजूद विशाल जनसमूह को संबोधित भी किया।

प्रधानमंत्री आधे घंटे तक कॉरिडोर एरिया में रुके तथा वहां शुरू हो रहे कार्यों को विस्‍तार से समझा व काशी विश्‍वनाथ कॉरीडोर योजना का मॉडल भी देखा। इसके बाद प्रधानमंत्री बड़ा लालपुर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्‍यय हस्‍तकला संकुल के लिये रवाना हो गये। हस्‍तकला संकुल में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी विश्व महिला दिवस के उपलक्ष्य में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से संवाद करेंगे और राष्‍ट्रीय महिला आजीविका सम्‍मेलन 2019 का उद्घाटन करेंगे।

देखें वीडियो, विश्‍वनाथ कॉरीडोर का प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने किया शिलान्‍यास

देखें तस्‍वीरें, विश्‍वनाथ कॉरीडोर का प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने किया शिलान्‍यास

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।