नारस। जनपद के जिला अपर सांख्यिकी अधिकारी अरुण सिन्हा की आज सुबह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर हुए दर्दनाक हादसे में मौत हो गयी। इस हादसे में अरुण सिन्हा के साथ उनकी पत्नी, बेटे और ड्राइवर की भी मौके पर मौत हो गयी। अरुण सिन्हा अपने परिवार के साथ राजस्थान की राजधानी जयपुर में आयोजित उत्तर प्रदेश सरकार के सूक्ष्म,लधु,मध्यम उधम एंव निर्यात प्रोत्साहन विभाग के कालीन दरी के हस्तशिल्पियो के एक्सपोजर विजिट मे भाग ले कर वापस लौट रहे थे। यह एक्सपोज़र विज़िट 2 से 10 मार्च तक आयोजित था।

शिवपुर के निवासी अरुण सिन्हा की मौत की खबर मिलते ही वाराणसी के प्रशासनिक अमले में शोक की लहर फ़ैल गयी। वहीं इस हादसे में अरुण सिन्हा की पुत्री श्वेता सिन्हा गंभीर रूप से घायल हो गयी हैं, जिन्हे इलाज के लिए मिनी पीजीआई में भर्ती कराया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार इटावा के उसराहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कौवा रमपुरा गांव के समीप भीषण सड़क हादसे में बनारस में तैनात अपर सांख्यिकी अधिकारी अरूण सिन्हा समते 4 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। इस हादसे में अपर सांख्यिकी अधिकारी अरूण सिन्हा, उनकी पत्नी रेखा सिन्हा, बेटा अमित सिन्हा और चालक रविन्द्र विश्वकर्मा की मौके पर ही मौत हो गई।