नारस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी वर्तमान लोकसभा सीट वाराणसी से ही अगला लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इस बात का फैसला बीजेपी की संसदीय बोर्ड की मीटिंग में हुआ। शुक्रवार को राजधानी दिल्ली में तीन घंटे तक चली संसदीय बोर्ड की बैठक इस फैसले पर मुहर लगी। इससे पहले पीएम मोदी के बी अनरस छोड़कर किसी और लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे थे।

कहा यह भी जा रहा था कि मोदी वाराणसी और ओडिशा के पुरी से एक साथ चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन अब यह सभी अटकलें निराधार साबित हुई हैं। साल 2014 में पिछ्ला लोकसभा पीएम मोदी ने वाराणसी के साथ ही गुजरात की वडोदरा सीट से भी लड़ा था और यहां से भी जीते थे। बाद में उन्होंने वडोदरा सीट से इस्तीफा दे दिया था।

विज्ञापन

पिछले लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को टक्कर देने वाले आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को मोदी ने तीन लाख 71 हजार वोटों से हराया था। पिछले चुनावों में पीएम मोदी को कुल पांच लाख 81 हजार वोट मिले थे। मोदी के मुकाबले खड़े हुए कांग्रेस के कैंडिडेट अजय राय अपनी जमानत तक न बचा पाए थे। उन्हें सिर्फ लगभग 75 हजार वोट मिले थे। इस बार अरविंद केजरीवाल ने लोकसभा चुनावों में ताल न ठोंकने का फैसला लिया है।

इसके आलवा बीजेपी की संसदीय बोर्ड ने फैसला लिया है कि लोकसभा चुनावों का टिकट उसी कैंडिडेट को दिया जाएगा जो चुनाव जीत सके। साथ ही अगर कैंडिडेट 75 साल से ज्यादा उम्र का है तब भी उसे जीतने की संभावना के आधार पर टिकट दिया जाएगा।

विज्ञापन
Loading...