नारस। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा खेले गए चुनावी कार्ड की सत्ता में कांग्रेस आई तो हम न्यूनतम आय गारंटी योजना लेकर आएंगे पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने वाराणसी में विवादित बयान दे डाला। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने राहुल गांधी के इस चुनावी कार्ड पर कहा कि दिन में सपने देख रहे हैं राहुल गांधी। वो ख्याली पुलाव अभी पका लें चुनाव बाद वो सिर्फ ‘कार्ड खेलेंगे। वहीं उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी तैयार है चाहे जब लग जाए आचार संहिता हमारे बूथ लेवेल के कार्यकर्ता से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक सभी चुनाव के लिए तैयार हैं।

चंदौली में विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास करने पहुंचे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और चंदौली के सांसद डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने वाराणसी सर्किट हॉउस में इन कार्यों के शिलापट्ट का अनावरण किया। वहीं उन्होंने चुनाव के लिए पार्टी के तैयार होने के सवाल पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक जीवंत और सक्रीय और निरंतर कार्य करने वाली पार्टी है। लोकतंत्र का पालन करते हुए हमारे बूथ से लेकर राष्ट्रिय अध्यक्ष तक सभी कार्यकर्ता कार्य में लगे रहते हैं। चुनाव आचार संहिता आज लगे या कल हमारी पार्टी पूरी तरह से जनता के बीच जाकर आशीर्वाद मांगने के लिए तैयार है।

विज्ञापन

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा चुनाव के पहले चुनावी कार्ड खेलते हुए जनता से सरकार आने पर न्यूनतम आय गारंटी योजना लाने के वादे पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने विवादित बयान दे डाला और कहा कि राहुलगांधी दिन में सपना देख रहे हैं। उन्हें जितना ख्याली पुलाव पकाना है वो अभी पका लें, चुनाव बाद वो सिर्फ ‘कार्ड’ खेलेंगे।

तेलंगाना की पूर्व सांसद और कांग्रेस लीडर विजय शान्ति द्वारा तेलंगाना के शमसाबाद में एक रैली में दिए बयान कि ‘सभी लोग इस बात से डरे हुए हैं कि प्रधानमंत्री मोदी किस वक्त कोई बम गिरा देंगे। लोगों से प्यार करने की जगह अब वह एक आतंकवादी के तरह दिखते हैं और इस तरह किसी भी प्रधानमंत्री को नहीं होना चाहिए।’ इस पर बोलते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि ऐसे हलके बयानों पर कोई टिपण्णी नहीं करनी चाहिए लेकिन ये बात है कि आतंकवादियों को मालूम होगा मोदी जी कैसे दिखते हैं।

2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने अपने दो खास नारे दिए हैं। एक “मोदी है तो मुमकिन है” और दुसरा “नामुमकिन अब मुमकिन है।’ इसपर तंज़ कसते हुए अखिलेश यादव ने ट्विट्टर पर लिखा कि ‘भाषा की दुर्भावना फैलाने वाले ये भूल रहे हैं कि आज का उनका नारा भी उस भाषा के शब्द ‘मुमकिन’ के बिना मुमकिन नहीं है। अगर भाषा को लेकर मन में इतनी ही खटास है तो माननीय लखनऊ वाले दिल्ली वालों के नारे को प्रदेश में प्रतिबंधित करके दिखाएं।’ इस सवाल को जब महेंद्र नाथ पांडेय से किया गया तो उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी और हम, सभी भाषाओं का आदर करते हैं। अखिलेश और कुछलोग भाषाओं का इस्तेमाल सिर्फ वोट के लिए करते हैं। हम संस्कृत, हिन्दी और देश में बोली जाने वाली और प्रचलित सभी भाषाओं का सम्मान करते हैं।

वहीं जब महेंद्र नाथ पांडेय से पूछा गया कि इस चुनाव में आप की टक्कर किस्से है तो उन्होंने बताया कि बहजपा और उसके घातक दल यानी पूरे राजग की किसी से कोई टक्कर नहीं है। फुटकर-फुटकर राज्य स्तर पर पार्टियां लड़ रही हैं। टक्कर देने के लिए कोई एक दल या गठबंधन भी नहीं है। वहीं सपा के प्रमुख महासचिव प्रोफ़ेसर रामगोपाल के बयान की सपा 75 सीटें जीत रही है पर पलटवार करते हुए कहा कि उसका उलटा कर लीजिए भाजपा 75 सीटें जीतेगी और सपा को 5 में कुछ सीटें मिलेंगी या भाजपा वो पांच भी जीत जाएगी।

विज्ञापन
Loading...