नारस। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा रविवार की शाम को 17वीं लोकसभा के लिये आम चुनाव 2019 की घोषणा हो गयी है। इसके बाद पूरे देश में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू कर दी गयी है। इसी क्रम में वाराणसी जनपद के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (जिलाधिकारी) सुरेन्‍द्र सिंह ने सोमवार को रायफल क्लब सभागार में विभिन्न राजनितिक दलों के प्रतिनिधियों संग बैठक कर उन्हें आदर्श आचार संहिता का पाठ पढ़ाया।

इस दौरान उन्होंने सख्ती के साथ बताया कि आदर्श चुनाव आचार संहिता का किसी भी प्रकार का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और ऐसा करने वालों के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

वाराणसी संसदीय क्षेत्र के लिए मतदान सातवें एवं अंतिम चरण में 19 मई को डाले जाएंगे। इसके लिए अभी से जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। देर रात तक जिलाधिकारी, एसएसपी और सीडीओ ने जहां सड़क पर उतारकर राजनीतिक प्रचार की होर्डिंग, पोस्टर हटवाए तो वहीँ सुबह सवेरे ही जिलाधिकारी/ मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने रायफल क्लब सभागार में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की मीटिंग बुलाकर उन्हें आदर्श अचार संहिता का पाठ पढ़ाया।

इस दौरान जिलाधिकारी/ मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने सख्‍त हिदायत दी कि जिले में चुनाव अचार संहिता का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वाहनों पर कोई भी व्यक्ति यदि किसी पार्टी का झंडा लगाकर चलेगा तो उस गाड़ी का खर्च प्रत्याशी के चुनावी खर्चे में जोड़ा जाएगा। इसके अलावा यदि किसी पैडल रिक्शा, ऑटो या ई-रिक्शा पर एक से अधिक प्रचार पोस्टर या स्टिकर लगे मिले तो उसे भी प्रत्याशी के खर्चे में प्रचार वाहन के रूप में जोड़ा जाएगा।

इस दौरान किसी भी तरह से चुनाव को प्रभावित करने के लिए मादक पदार्थों, पैसे और कपड़ों के वितरण को भी उल्लंघन बताया और कहा कि यदि शिकायत मिली और वह पकड़ा गया तो उसके विरुद्ध विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

इस दौरान जिलाधिकरी/ मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने राजनितिक दलों के प्रतिनिधियों की शंकाएं भी दूर की।