नारस। शहर में जाम की समस्या कोई नई नहीं है पर इस जाम को लगावाने में जितना हम बनारसियों का योगदान है उतना ही ट्रैफिक और सिविल पुलिस का भी है। अगर नियम की बात करें तो शहर में भारी वाहन के आवागमन पर सुबह सात बजे के बाद प्रतिबन्ध लग जाता है लेकिन रोज़ सुबह दस बजे के बाद भी शहर की सबसे बड़ी मंडी विशेश्वरगंज में ट्रकें आसानी से विचरण करती हैं। बुधवार को भी यही हुआ जब विशेश्वरगंज मंडी से एक ट्रक निकली तो लंबा जाम लग गया पर साहब कहाँ हैं यहाँ आराम से आओ जाओ।

विज्ञापन

साथ ही रोज़ सुबह एक टीआई साहब भदऊ चुंगी के पास काशी स्टेशन पुल के नीचे ऑटो और बाइक का चालान करने में मस्त रहते हैं और ट्रकें सुविधा शुल्क पर आती जाती रहती हैं।

शहर के कालभैरव चौराहे पर रोज़ सुबह भीषण जाम होता है यहां पुलिसकर्मी मौजूद ज़रूर रहते हैं पर शो पीस की तरह। आज भी सुबह यहाँ जाम की स्थिति थी और कारण था नो इंट्री में घुसी ट्रक। स्थानीय दुकानदार रमेश सेठ ने बताया कि यह कोई नया नहीं है रोज़ सुबह दो से तीन ट्रकें सात बजे के बाद तक यहां सामान उतारते आप को मिल जाएंगी और ये ट्रकें दस से ग्यारह के बीच में प्रहलाद घाट होकर बाहर निकलती हैं क्योंकि गोलगड्डा के रास्ते में थाना आदमपुर पड़ता हैं।

कोतवाली थाना क्षेत्र और आदमपुर थानाक्षेत्र में पड़ने वाले ये दोनों स्थान पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी तो रहती है पर सुविधा शुल्क पर साहब का आदेश भी नहीं दिखता। टीआई साहब तो गाड़ी में बैठे रहते हैं और टेम्पो बाइक से राजस्व का खज़ाना भरते हैं और अवैध नियम तोड़ ट्रकों से दोस्ती निभाते हैं।

विज्ञापन
Loading...