सोने की स्मगलिंग का अंदाज देख चौंक गई बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंची DRI की टीम

0
140

नारस। लाल बहादुर शास्त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट सोने के स्मगलर्स का पसंदीदा गेटवे बनता जा रहा है। आये दिन नए तौर तरीकों से सोने के स्मगलिंग के मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि रिकवर होने वाले सोने की मात्रा अधिक तो नहीं लेकिन स्मगलिंग का जो ट्रेंड सामने आ रहा है वही बड़ी साजिश की ओर इशारा कर रहा है।

डीआरआई की टीम को इनपुट मिला था कि वाराणसी एयरपोर्ट पर स्मगलिंग कर सोना लाया जाने वाला है। इसीकी सोचना पाकर गुरुवार को डीआरआई की टीम शारजाह से आने वाली एयर इंडिया एक्सप्रेस की फ्लाइट आईएक्स 184 के आने से पहले मुस्तैद हो गई। इस फ्लाइट के लैंड होने पर 6 पैसेंजर्स को डीआरआई की टीम ने हिरासत में ले लिया।

इनके लगेज की जांच करने पर पता चला कि यह सभी शारजाह से अपने हैण्डबैग के किनारे सोने की पट्टी लगाकर वाराणसी पहुंचे थे। इन लोगों ने हैंडबैग के किनारे लगने वाली एलुमिनियम पट्टी हटाकर उसकी जगह सोने की पट्टी लगा रखी थी, ताकि किसी को शक न हो और सोना आसानी से अपने मुकाम पर पहुंचाया जा सके। सोना मिलने के बाद डीआरआई की टीम ने तत्काल इन छहों को गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि गुरुवार को ही कस्टम्स के अधिकारियों ने वाराणसी एयरपोर्ट से एक महिला को 236 ग्राम सोने के साथ हिरासत में लिया था। इससे पहले इसी हफ्ते बैंकॉक से आने वाली इंडिगो एयरलाइंस फ्लाइट से आये संजीव कुमार मिश्रा ने अपने प्राइवेट पार्ट में आधा किलो से अधिक सोना छिपाकर रखा था। यह सारी घटनाएं इशारा कर रही हैं कि वाराणसी एयरपोर्ट से लगातार सोने की स्मगलिंग का काम तेजी से जारी है।

बता दें की बैंकाक सोने की स्मगलिंग के लिए हमेशा से बदनाम रहा है और जब से वाराणसी एयरपोर्ट से बैंकाक की डाइरेक्ट फ्लाइट हुई है सोने की समग्लिंग के केस में वृद्धि हुई है। इसका मुख्य कारण है वाराणसी से दिल्ली ही नही नेपाल बॉर्डर भी पास है, दिल्ली और मुंबई पर सोने की स्मगलिंग और पकड़े जाने के आंकड़े देखें तो उसको देखकर यही लग रहा है कि अब सम्गलरों द्वारा बनारस को गेटवे बनाने की तैयारी है।