नारस। शिक्षा के क्षेत्र में सरकारें काम कर रही हैं लेकिन शिक्षा का अलख आज भी कई क्षेत्रों में उस प्रकार से नहीं जगा है जैसा होना चाहिए। ऐसे में कई सारी समाजसेवी संस्थाएं समय समय पर विद्यालयों को गोद लेकर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए कार्य करती हैं, लेकिन कुछ जगह फिर भी शिक्षा का उजियारा उस तरह नहीं फैला है। ऐसा ही एक विद्यालय में शिखा की गुणवत्ता के लिए बीएचयू के ग्रेजुएट प्रथम वर्ष के छात्र ने गोद लिया है। छात्र पीयूष सीवान बिहार के रहने वाले हैं और यहाँ के उच्चत्तर माध्यम विद्यालय को इन्होने गोद लिया है।

इस सम्बन्ध में बात करते हुए काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के ग्रेजुएट प्रथम वर्ष के छात्र पीयूष ने बताया कि इस क्षेत्र में कार्य वह काफी समय से कर रहे है किंतु इस कार्य को करने की इच्छा को और अधिक बल तब मिल गया जब उन्होंने पंडित मदन मोहन मालवीय के बारे में पढ़ा और बी एच यू में दाखिला लिया। उन्होंने कहा कि वह इस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के आधुनिकीकरण के लिए आवश्यकता पड़ने पर लोगो से भी पैसे इकठ्ठे करेंगे और इसके लिए व्यापक स्तर पर मुहिम चलायेंगे, क्योंकि यह एक नेक कार्य है इसलिये लोग भी पीयूष के इस कार्य में मदद को भी आगे आ रहे हैं और पीयूष अपने लक्ष्य में सफलता की तरफ अग्रसर हैं।

विज्ञापन

गौरतलब है कि पूनक में “बाल-प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन भी पीयूष की अध्यक्षता में दो बार सफलता पूर्वक कराया जा चुका है जो काफी चर्चित रहा। ‘मेरा गांव मेरा विद्यालय’ इनकी ही एक योजना है, जिसके तहत इन्होंने अपने गांव के सरकारी मध्य विद्यालय को गोद लिया है, जिसमें इनके माध्यम से कई सुविधाएं मुहैय्या कराई जाएंगी। ये चाहते हैं कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में जो सुविधाएं वहां के छात्रों को दी जाती हैं वही सुविधाएं यहां के छात्रों को भी मिले।

इनका सपना है कि सीवान में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के जैसी सुविधा वाला ही एक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का निर्माण हो। इसके लिए पीयूष अनवरत कार्य कर रहे है।

विज्ञापन
Loading...