नारस। चुनाव की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर हर पार्टी की ओर से वायदों और कार्यों की पोस्ट आना शुरू हो गई हैं। सिर्फ आम व्यक्ति या मतदाता ही नहीं सोशल मीडिया से पार्टियां भी अपनी बात जनता तक पहुंचा रही हैं।

पहली बार वोट डालने जा रहे 21वीं सदी के युवा मतदाता
ये साल 2019 है और 21 वीं सदी में 18 साल की उम्र पार करने वाले मतदाता पहली बार लोकसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करने जा रहे हैं। नयी सदी में ऐसे मतदाताओं की भारी संख्‍या को देखते हुए सोशल मीडिया की भूमिका कुछ ज्‍यादा ही मायने रखती है।

विज्ञापन

बनारस में बना बीजेपी का वॉर रूम, 15 जिलों की मिली है कमान
सोशल मीडिया की ताकत को समझते हुए इस सशक्त माध्यम के जरिये पार्टियां अपने पक्ष में माहौल बनाने में लगी हुई है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के संसदीय सीट वाराणसी में भाजपा आईटी सेल ने भी अपनी कमर कस ली है। सोशल मीडिया पर एक्‍स्‍ट्रा एक्‍टिव प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के आईटी विशेषज्ञों की टीम दिन रात 15 जनपदों के वोटरों से सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़ रही है।

वाराणसी में बने बीजेपी के आईटी सेल से 15 जनपदों की लोकसभा सीटों पर बूथ लेवल तक सरकार के वादे और कार्यों को पहुंचाने का काम तेजी से चल रहा है।

चुनाव से पहले करते थे रोज 10 पोस्‍ट
इस सम्बन्ध में हमने भाजपा काशी प्रांत के आईटी सेल के क्षेत्रीय संयोजक शशि कुमार से बातचीत की। बीजेपी के युवा नेता शशि को खुद प्रधानमंत्री ट्विटर पर फॉलो करते हैं। उन्‍होंने बताया कि आमतौर पर चुनाव के पहले जो प्रक्रिया होती है, जिसमें हम रोज़ दस पोस्ट सोशल मीडिया के सशक्त माध्यम फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सप्प और इंस्टाग्राम पर पोस्‍ट कर रहे थे। मोदी सरकार के कार्यों को सोशल मीडिया के जरिये जनता के बीच पहुंचाने के लिये हमारी टीम काफी पहले से दिन रात मेहनत कर रही थी।

चुनाव की घोषणा के बाद कर रहे 100 पोस्‍ट रोज
शशि ने बताया कि चुनाव की घोषणा के बाद हमें हर चीज दायरे में रहकर करनी होती हैं। हर नियमों का पूरी तरह से फॉलो कर रहे हैं। हम चुनाव आयोग की गाइडलाइन्‍स को मद्देनजर रखते हुए तस्‍वीरों, वीडियो और इन्‍फोग्राफिक्‍स आदि की मदद से जनता को मोदी सरकार की उपलब्‍धियां गिना रहे हैं। शशि के अनुसार पहले जहां प्रतिदिन 10 पोस्‍ट सोशल मीडिया पर डाली जाती थी तो वहीं अब ये सांख्य बढ़कर सीधे 100 पोस्ट तब पहुँच गयी है।

वाट्सअप पर बने हैं 2 हजार ग्रुप
शशि ने बताया कि हम बनारस के वॉर रूम से ही 15 जनपदों को हैंडल करते हैं। आईटी सेल में 24 लोगों की टीम दिन रात सोशल मीडिया पर नज़र बनाए हुए है। इस बार हम फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सप्प और इंस्टाग्राम से बूथ लेवल तक पहुंच रहे हैं, जिसमे सबसे ज़्यादा सहयोग हमारा व्हाट्सप्प कर रहा है जिस पर हमने तकरीबन 2 हज़ार ग्रुप बना रखे हैं। इसके अलावा हमारे स्‍थानीय कार्यकर्ता फेसबुक आदि पर ग्रुप व पेज चला रहे हैं, जिसमें किसी पर 10 लाख तो कहीं चार से पांच हजार तक लाइक हैं। हम उन पेज के जरिये भी अपनी बात जनता तक पहुंचा रहे हैं।

ग्राफिक डिजायनरों की दक्ष टीम कर रही काम
आईटी सेल के क्षेत्रीय संयोजक ने बताया कि भाजपा पार्टी के सन्देश और उसकी सरकारों द्वारा किए गए कार्यों और उन योजनाओं के लाभार्थियों का वीडियो शूट करवा कर तथा उसकी एडिटिंग अपने हिसाब से करके हम इन्‍ट्रैक्‍टिव वीडियो बना रहे हैं। उसे फेसबुक, वाट्सअप और यू-ट्यूब आदि के जरिये पब्लिश कर रहे हैं। इसके अलवा हमारे पास दक्ष ग्राफिक्स डिज़ाइनरों की टीम है जो ग्राफिक्स और इन्‍फोग्राफिक्स की मदद से सोशल मीडिया पर रोज़ नये सन्देश तैयार कर रही है।

हर रोज बढ़ रहे फेसबुक और ट्विटर पर फॉलोअर्स
शशि ने बताया कि इस वार रूम से हम 15 जनपदों के वालिंटियर्स पेज पर एक साथ पोस्ट करते हैं। साथ ही हम अपने वाराणसी बीजेपी के फेसबुक पेज भी काफी एक्‍टिव हैं। शशि के अनुसार फिलहाल फेसबुक पर हमारी रीच 15 हज़ार है जबकि ट्विटर पर हमें 20 हज़ार से ज्‍यादा लोग फालो करते हैं। ये संख्‍या हर बदलते दिन के साथ बढ़ रही है। शशि के अनुसार इसबार चुनाव में आईटी सेल के लिए व्हाट्सप एक सशक्त माध्यम बनकर उभरा है।

देखें वीडियो

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।