ऊँ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभ्यो नमः


बीज का अर्थ होता है मूल व जड़ से, इसलिए इस मंत्र के जप से मां लक्ष्मी सर्वाधिक प्रसन्न होती हैं। ये मंत्र आपके ह्दय में प्रेम एवं भक्ति की भावना को बढ़ाता है। साथ ही ये आपके लिए सफलता का रास्ता भी बनाता है। इस मंत्र का जप आप 5, 11, 21, 51 एवं 108 बार कर सकते हैं।

विज्ञापन
Loading...