साई इंस्टिट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट ने महिला उद्यमियों को किया सम्मानित, अब तक 6 हजार महिलाओं को दे चुकी है रोजगार

0
73

नारस। शनिवार को साई इंस्टिट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट एवं समर्पण सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में लल्लापुरा में ‘आई सी टी आर सी प्रोजेक्ट’ से जुड़ी महिलाओं उद्यमियों सम्मान के लिए संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

महिलाओं को योजगार के लिए सरकार है प्रतिबद्ध

इस संगोष्ठी का शुभारंभ करते हुए जिला उद्योग केंद्र वाराणसी मंडल के जॉइंट कमिश्नर (उद्योग) उमेश सिंह ने कहा कि महिला उद्यमियों के प्रोत्साहन को सरकार प्रतिबद्ध है एवं विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से आप अपना स्वयं का कारोबार शुरू कर सकती है।आज के परिवेश में बनारस तेज़ी से उभर रहा है अतः आप सभी अपने हुनर को एक नया आयाम देते हुए रोजगारपरक प्रयास करे जिससे कि आप सब अपने आय को बढ़ाने के साथ ही साथ अपनी एक पहचान बना सकती है।

महिलाएं सरकारी योजना का उठायें लाभ

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन वाराणसी के चेयरमैन राजेश भाटिया  ने कहा कि आज के दौर में महिलायें हर एक क्षेत्र में पुरुषों से भी एक कदम आगे निकल रही है। आप सभी सरकार की इन योजनाओं का उठाएं फायदा और बने बिजनेस वीमेन।

वही इस अवसर पर शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की प्रभारी डॉ फाल्गुनी गुप्ता ने कहा कि साईं इंस्टिट्यूट लल्लापुरा क्षेत्र में महिलाओ के जो कार्य कर रही है इसमें हम और हमारी टीम लगातार एक दुसरे के साथ सहयोग करते हुए आगे बढ़ रहे है।

इसके साथ ही परियोजना प्रबंधक प्रशांत दूबे ने बताया कि बिजनेस टायकून का जब भी नाम लिया जाता है सफल पुरूषों के नाम सामने आ जाते हैं। लेकिन धीरे-धीरे यह सोच बदलाव की ओर है। अब महिलाएं भी उद्योग जगत में नाम कमाने का प्रयास कर रही हैं। यदि आप भी अपने करियर के लिए कोई अच्छा बिजनेस प्लान करना चाहतीं हैं अपने लिए सही समय पर सही कोर्स का चुनाव करे।

उन्होंने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सहयोग से वाराणसी में साई इंस्टिट्यूट ऑफ रूरल डेवेलपमेंट द्वारा संचालित कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी।

संस्था ने अब तक 6000 से ज्यादा महिलाओं को दे चुकी है रोजगार

मुख्य अतिथि का स्वागत संस्था के निदेशक अजय कुमार सिंह ने करते हुए बताया कि संस्था द्वारा अब तक 6000 से ज्यादा महिलाओ को रोजगारपरक प्रशिक्षण सफलतापूर्वक दिया जा चुका है और वे सभी आज सफल उद्यमी बनने की ओर अग्रसर है।