नारस। जिले में खासकर शहरी इलाकों में जाम की विकट समस्या को देखते हुए वाराणसी पुलिस के कप्तान आनंद कुलकर्णी ने अपने मातहतों संग मीटिंग की है। मीटिंग के दौरान उन्होंने पुलिसकर्मियों विशेषतौर पर ट्रैफिक पुलिस के जवानों को कई आवश्यक निर्देश दिये हैं।

एसएसपी ने वाराणसी की जनता से भी अपील की है कि वे सडक पर वाहन चलाते हुए नियमों का पालन करें, अन्यथा वाराणसी के विभिन्न चौराहों पर लगाये गये कैमरों से अब नियम तोडने वाले वाहनों पर नजर रखी जा रही है। ऐसे वाहनों को चिह्नित करते हुए उनके खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

विज्ञापन

मीटिंग के दौरान एसएसपी ने जो निर्देश दिये हैं उसमें –

  1. शनिवार को एसएसपी आनन्द कुलकर्णी द्वारा पुलिस लाइन स्थित न्यू अतिथि गृह के सभागार में सुगम यातायात व्यवस्था के लिये मीटिंग ली गयी है। इस दौरान सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिया गया कि –
  2. डियूटी के दौरान चौराहे से 50 मीटर तक किसी भी प्रकार के वाहन को खड़ा न होने दिया जाए।
  3. गलत दिशा से चलने वाले तथा ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ नियम के अनुसार कडी कार्रवाई की जाए।
  4. वाहन चेकिंग के दौरान बीमार, बुजुर्ग, महिलाओं को अनावश्यक परेशान न किया जाए।
  5. मरीज को लेकर जाने वाले एम्बुलेंस आदि वाहन को बिना किसी बाधा के प्राथमिकता के स्तर पर उनके गन्तव्य तक रवाना किया जाए।
  6. ट्रैफिक पुलिस द्वारा अपने डियूटी वाले स्थानों पर बराबर सतर्क रहकर डियूटी किया जाए।
  7. ठेला, खोमचा तथा वाहनों के खड़ा होने से लगने वाले जाम की समस्या से निजात पाने के लिये ऐसे स्थानों को चिह्नित किया जाए और उन्हें नो वेंडिंग तथा नो-पार्किंग जोन घोषित किया जाए।

एसएसपी ने इस दौरान इंटर सेप्टर वाहन पर लगे स्पीड रडार को चेक किया तथा निर्देश दिया कि हर रोज इंटर सेप्टर वाहन में लगे स्पीड रडार से तेज चलने वाले वाहन चालकों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाए। इंटर सेप्टर वाहन से की जाने वाली कार्रवाई की रिपोर्ट हर रोज उन्हें दी जाए।

एसएसपी ने ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारियों को निर्देश दिया है कि यातायात व्यवस्था के लिये खरीदे गये बाडी वार्न कैमरे को ट्रैफिक इंस्पेक्टर, ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर, थीटा एवं यातायात मुख्य आरक्षी के साथ-साथ आरक्षी यातायात भी प्राप्त कर लें और डियूटी के दौरान उसे ऑन रखें। इससे वाहनों के खिलाफ कार्रवाई में पारदर्शिता बनी रहेगी एवं अराजकतत्वों की पहचान भी हो सके।

मीटिंग के दौरान ट्रैफिक एसपी श्रवण कुमार सिंह, सीओ ट्रैफिक अर्जुन सिंह सहित सभी ट्रैफिक इंस्पेक्टर, ट्रैफिक संब इंस्पेक्टर, थीटा, मुख्य आरक्षी यातायात और अन्य ट्रैफिक कर्मी मौजूद रहे।

मीटिंग समाप्त होने के बाद एसएसपी आनंद कुलकर्णी द्वारा सिगरा स्थित कमाण्ड सेन्टर का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान चौराहों पर स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत लगे कैमरों की मानिटरिंग करने के लिये लगाये गये कर्मचारियों को एसएसपी ने निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि वह अपने-अपने आवंटित चौराहों पर बराबर सतर्क दृष्टि रखे। यातायात कर्मियों द्वारा डियूटी में तत्परता न दिखाने पर तथा किसी वाहन चालक द्वारा अनावश्यक वाहन रोककर जाम की स्थिति उत्पन्न करने पर तत्काल सम्बन्धित चौराहे पर एनाउंसमेंट करके उन्हें सतर्क करें।

एसएसपी ने वाराणसी के प्रेस और मीडिया के माध्यम से भी आम जनमानस से अपील की है कि वे सडक पर नियमों का पालन करें, क्योंकि अब वे पूरी तरह से कैमरे की नजर में हैं और नियम तोडने वालों के खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी ने कहा है कि वाराणसी में जाम की स्थिति से बचने के लिये सबसे जरूरी है कि लोग जागरूक हों और सडक पर नियमों का पूरी तरह से पालन करें।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।