गांव में कैनवास पर रंग उकेर दिया ग्रामीणों को शिक्षा का पैगाम

0
27

नारस। कहते हैं की रंगों से दुनिया का हर इंसान इत्तेफाक रखता है और उसी रंग से दुनिया को जनता और समझता है। इसी रंग की जादूगरी में माहिर काशी की बेटी पूनम राय ने एक बार फिर गरीब बच्चों की तरफ अपने लकवाग्रस्त पैर बढ़ाएं। दहेज़ लोभियों की भेंट चढ़ अपने पैर की शक्ति खो चुकी पूनम राय ने पिंडरा तहसील के शेरवानीपुर के स्कूल में रंगों के माध्यम से छात्र छात्राओं में शिक्षा का अलख जगाया। उन्होंने इस दौरान छात्रों को पेंटिंग की बारीकियां सिखाने के साथ रंग समायोजन भी बताया।

इस सम्बन्ध में बात करते हुए पूनम राय ने बताया कि रंग से हम किसी भी चीज़ को बहुत ही अच्छे से प्रदर्शित कर सकते हैं और लोग इसे बहुत इंट्रेस्ट से देखेंगे। इसी उद्देश्य के साथ आज इस स्कूल में मैंने रंगों के माध्यम से बच्चों के मन को टटोला है उनसे शिक्षा पर कई सारे सवालकिए हैं और उन्हें रंगों की बारीकियां समझाई है। आने वाले समय में इन बच्चों के बीच से हो सकता है कोई हमारे देश का नेतृत्व करने वाला हो।

इस दौरान पूनम राय ने बच्चों से उनकी जिज्ञास के अनुरूप पेंटिंग भी बनवाई और जिनकी पेंटिंग उत्कृष्ट थी उन्हें स्टेशनरी के सामन देकर सम्मानित भी किया।