नारस। गलफ्रेंड का शौक और अपने लिए महंगे सामान खरीदने की आदत के शिकार 5 अंतरप्रांतीय वाहन चोरों को वाराणसी पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। इनके पास से पुलिस ने 21 चोरी की गाड़ियां और एक कटा हुआ इंजन भी बरामद किया है। वाराणसी की कैंट थाने की पुलिस ने इन अपराधियों को जेपी मेहता चौराहे से गिरफ्तार किया जिसमे से दो जौनपुर और तीन वाराणसी के रहने वाले हैं और कई महीनों से वाराणसी सहित आस पास के जनपदों से गाड़ी चोरी में संलिप्त थे।

इस सम्बन्ध में बात करते हुए पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी आननद कुलकर्णी ने बताया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र पूरे जनपद की पुलिस आलरात मोड़ पर है। उधर कैंट थाना क्षेत्र में लगातार बाईक चोरी की घटनाओं का इज़ाफ़ा हुआ था इस सम्बन्ध में कैंट थानाध्यक्ष अपराधियों की धर पकड़ में लगे हुए थे कि रविवार रात प्रभारी निरीक्षक कैंट विजय बहादुर सिंह अपनी टीम के साथ जेएचवी माल के पास मौजूद थे।

विज्ञापन

पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा
उसी समय उन्हें बज़रिये मुखबिर सूचना मिली की थाना क्षेत्र में लगातार हो रही बाईक चोरी की घटना में शामिल कुछ लड़के जेपी मेहता तिराहे के पास पानी टंकी के पास मौजूद है जल्दी की जाए तो उन्हें पकड़ा जा सकता है। इसपर विशवास करते हुए पुलिस बल अलग अलग टीम बनाकर घेरा बनाते हुए जेपी मेहता तिराहे के पास पहुंचे कि संदेह होने पर लड़के अपनी अपनी मोटर साइकिल स्टार्ट करके भागने का प्रयास किये जिसपर आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया गया।

मिली 21 बाईक
पकडे गए युवकों ने अपना नाम क्रमशः शुभम सिंह निवासी मरूई सरैया थाना चोलापुर जनपद वाराणसी, सचिन कुमार गौतम निवासी बरई ककरहिया थाना केराकत जौनपुर, बबलू राजभर (मिस्री) निवासी नुआंव बराई थाना केराकत जौनपुर, सुभाष कुमार निवासी जाठी सिंधौरा थाना फूलपुर वाराणसी और दीपक कुमार पटेल निवासी घुरीपुर थाना सारनाथ वाराणसी बताया। इनकी निशानदेही पर बबलू राजभर (मिस्त्री) की दुकान माँ वैष्णों हिरो होण्डा सर्विस सेन्टर सिधौना बाजार थाना फूलपुर जनपद वाराणसी से चोरी की 10 मोटर साइकिल 01 कटा हुआ इंजन 06 नम्बर प्लेट व 11गाड़िया अलग अलग जगहों से अभियुक्तों के निशान देही पर बरामद हुई ।

गर्लफ्रेंड का पूरा करते थे शौक
पूछताछ में बाइक चोरों ने बताया कि ये बाइक चोरी करने के बाद उसके कलपुर्ज़े आपस में बदल देते थे और बाइक स्कूली छात्रों को बेचते थे क्योंकि वो आसानी से अपना आई कार्ड दिखाकर चेकिंग से बच जाते हैं। पकडे गए सभी अभियुक्त यह कार्य लगभग 2 वर्षों से कर रहे हैं । ये एक गैंग बनाकर गाड़ियों को विभिन्न क्षेत्रों से चुराकर बेचते हैं जिससे काफी पैसा आसानी से मिल जाता था । इन्होने बताया कि ये आपस मे पैसे बांट लेते थे और मंहगें कपड़े जूते व अच्छी-अच्छी मोड़ीफाइड गाड़ियां खरीदते थे तथा अपनी अपनी गर्ल फ्रेन्डों को काफी महंगे गिफ्ट खरीदते थे ।

इन्होने किया गिरफ्तार
इन बाईक चोरों को गिरफ्तार करने में उपनिरीक्षक विजय बहादुर सिंह, उपनिरीक्षक अशोक कुमार, उपनिरीक्षक अंजनी कुमार मिश्र, उपनिरीक्षक सुनील कुमार यादव, हेडकांस्टेबल धर्मदेव चौहान, हेडकॉन्टेबल प्रेमचन्द्र सिंह, कांस्टेबल रामानन्द यादव, कांस्टेबल संतोष शाह, कांस्टेबल राम बचन पासवान, कांस्टेबल बृजेश कुमार त्रिशुलिया, कांस्टेबल भरत राय, मुख्य आरक्षी चालक दीपक कुमार सिंह ने मख्य भूमका निभाई।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।