नारस। जनपद 10 गांव की ग्रीन ग्रुप महिलाओं ने सोमवार को अपने अपने क्षेत्र में मतदान प्रतिशत हेतु लोगों को जागरूक किया। ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने प्रत्येक गांवों में यही सन्देश दिया कि हर कोई मतदान साक्षर बने। इस अभियान में महिलाओं ने पुराने लोकगीत लोक परंपरा को आधार बनाकर ढोल ढपली की सहायता से घर घर जन जागरूकता अभियान चलाया।

विज्ञापन

ग्रीन ग्रुप की महिलाएं हर चौक-चौराहे पर पहुंचकर बड़े बुजुर्ग और जिनकी उम्र 18 साल से ऊपर है, उन्हें मतदान साक्षरता का पाठ पढ़ाया। इस दौरान ग्रुप की महिलाओं ने कहा कि 5 वर्ष में एक बार भारतीय नागरिकों को यह राजनीतिक अधिकार प्राप्त हुआ है, जिसका प्रयोग जात-पात, धर्म और क्षेत्र से ऊपर उठकर करें। ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने बूढ़ादेव चौराहे पर बुजुर्ग दंपत्ति को अभी तक वोट का प्रयोग ना करने के कारण समझाया भी और चेताया भी।

ग्रीन ग्रुप से प्रशासन ने मतदान प्रतिशत बढ़ाने हेतु सहायता मांगी है। पिछले विधानसभा और स्थानीय निकायों के चुनाव में होप वेलफेयर संस्था द्वारा गठित ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने मतदान प्रतिशत के क्षेत्र में एक बड़ा बदलाव लाया था। ग्रीन ग्रुप के इस उन्नत और लोकतंत्र की दिशा में लोकतंत्र प्रहरी जैसी भूमिका निर्वाहन करने के कारण वाराणसी प्रशासन ने मतदान प्रतिशत की दिशा में इन महिलाओं की भूमिका सुनिश्चित की है।

महिलाओं ने लोक प्रचलित नारों के साथ सोहर गीत के माध्यम से लोगों को जागरूक किया तथा कहा लोकतंत्र जैसे महापर्व महापर्व में हर कोई अपनी अधिकार की आहुति दें। बता दें कि यह ग्रीन ग्रुप उन्ही महिलाओं का समूह है जिन्होंने अपने-अपने गांव में नशा जुआ और महिला प्रताड़ना के खिलाफ कार्य किया है और कर रही हैं।

विज्ञापन
Loading...