नारस। वाराणसी स्थित नुआंव सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स के कार्यालय में मंगलवार को देश के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देकर शौर्य दिवस मनाया गया।

सीआरपीएफ ने पकिस्तान के हमले का दिया था माकूल जवाब

आप को बता दें कि 09 अप्रैल 1965 में रात के समय पाकिस्तान नें गुजरात के सरदार पोस्ट पर भारतीय भू-भाग को कब्जा करने के नियत से डेजर्ट हॉक नामक आपरेशन शुरू कर हमला कर दिया। उस समय भारत की तरफ से सीआरपीएफ के 2वीं बटालियन की एक कंपनी ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए पाकिस्तान की एक ब्रिगेड जिसमे लगभग 3500 जवान थे उन्हें वापस जाने पर मजबूर कर दिया बल्कि 34 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था,जिसमे सीआरपीएफ के 6 जवान शहीद हो गए थे।

अपने सेना के इस गौरवशाली उपलब्धि को को स्मरण करते हुए हर साल स दिन को शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाता है।

दिलाई गयी शाप शपथ

सीआरपीफ के जवानों के इस पराक्रम को लेकर इस वीरता दिवस के अवसर पर सभी कार्मिको को शपथ दिलाई गयी, जिससे उनके अंदर देश भक्ति की मिशाल कायम रहे।

इस अवसर पर जे राजेंद्रन, डीआईजीपी,रमेश चंद्रा, द्वितीय कमान अधिकारी, निरीक्षकजीएल बगड़िया, उपनिरीक्षक दलबीर सिंह, निलेश पांडेय व अन्य आदि मौजूद रहे।

विज्ञापन