पीएम मोदी के खिलाफ बनारस से चुनावी ताल ठोंकने वालों में शामिल हुए जस्टिस कर्णन

0
23

नारस। पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी में चुनाव लड़ने वालों में एक नया नाम शामिल हो गया है। अपने जीवन रिटायरमेंट के बाद सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के आरोप में जेल काट चुके पूर्व जस्टिस सीएस कर्णन ने भी पीएम मोदी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है।

63 वर्षीय सेवानिवृत्त जस्टिस कर्णन के मुताबिक उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि वे वाराणसी में अपना नामांकन दाखिल करने के लिए प्रारंभिक तैयारियों में जुटे हैं।

जस्टिस कर्णन पहले ही चेन्नई सेंट्रल लोकसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल कर चुके हैं और वाराणसी उनका दूसरा निर्वाचन क्षेत्र होगा। जस्टिस कर्णन ने रिटायर होने के बाद 2018 में एंटी-करप्शन डाइनेमिक पार्टी (एसीडीपी) का गठन किया था, जिसके उम्मीदवार के रूप में उन्होंने अपना पर्चा दाखिल किया है।

जस्टिस कर्णन को जून 2017 में अपने रिटायरमेंट के बाद अदालत की अवमानना के मामले में छह महीने की जेल की सजा काटनी पड़ी थी।

बता दें, वाराणसी में अभी तक कांग्रेस या सपा-बसपा ने अपना कैंडिडेट घोषित नहीं किया है, जबकि कई। निर्दलीय लोगों ने अपने मुद्दों को हाईलाइट करने के लिए वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। इनमें बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव, भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण और आठ साल तक सरकारी कागजों में मृत रहने वाले आजमगढ़ निवासी राम अवतार यादव भी शामिल हैं।