नारस। जनपद के चिरईगांव ब्लाक स्थित खरगीपुर प्राथमिक विद्यालय के समीप शारदा सहायक नहर का तटबंध टूटने से कई बीघा फसल जलमग्न हो गयी है। इससे किसानों में हाहाकार मचा हुआ है। तटबंध टूटने से नहर किनारे स्थित दो दर्जन से अधिक किसानो की पचास बीघे से अधिक गेहूँ की फसल डूब गयी। मौके पर पहुंचे सींचपाल ने उच्च अधिकारियों को नहर टूटने की खबर दी है। बता दें कि इससे पहले बीते 15 जनवरी को भी नहर का तटबंध टूट गया था जिससे गेहूँ की कई बीघे फसल क्षतिग्रस्त हो गयी थी।

तरयाँ के लालू, राजनाथ, बब्बन, मुड़ली के परदेशी, केदारनाथ, उमरहाँ के श्यामजी पटेल आदि किसानों की फसल नहर के पानी से डूब गयी। किसानों ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब सिंचाई की जरूरत थी तो नहर मे पानी नही आता और जब फसल पककर तैयार हो जाती है तो क्षमता से अधिक पानी छोड़ दिया जाता है। आज भी वही हुआ, जिसकी वजह से तटबंध टूट गया और हमारी फसलें पानी की भेंट चढ़ गयी।

क्षेत्रीय किसानों ने बताया कि ओवर फ्लो कर रही नहर का तटबंध बुधवार को अपराह्न तीन बजे टूट गया। नहर का पानी गेहूँ के खेत मे फैलना शुरू हो गया । इसपर हमने काफी मेहनत कर टूटे तटबंध को बांधने का प्रयास किया लेकिन लेकिन तटबंध बाँधने मे सफल नही हो सके और पानी हमारी फसल तक पहुंच गया। किसानों ने प्रशासन से मुआवज़े की मांग की है।

 

विज्ञापन