रामनगर संवाददाता : डॉ राकेश सिंह

नारस। सुगम यातायात व्यवस्था के लिए एसपी ट्रैफिक श्रवण कुमार सिंह दिन रात मेहनत कर हर पॉइंट पर ट्रैफिक कर्मियों की नियुक्ति कर महानगर को जाम से मुक्त करने की कवायद में लगे हैं। वहीं ट्रैफिक कर्मियों की लापरवाही लगातार उजागर हो रही है। इसी की एक बानगी बुधवार की रात को तब देखने को मिली जब अनजान यात्री बस के ड्राइवर ने सामनेघाट -रामनगर पुल पर बस चढ़ा दी और रामनगर की तरफ बैरियर में फंस गया। इस बस में तीर्थयात्री सवार थे। इस बस के फसने से पुल पर घंटों भीषण जाम लगा रहा।

रामनगर संवादाता के अनुसार रामनगर -सामनेघाट पुल पर सामनेघाट पुल की ओर बैरियर न होने की वजह से बुधवार रात 9 बजे तीर्थयात्रियों से भरी बस पुल पर आ गयी । जानकारी के अभाव में बस चालक राजवीर बस को लेकर रामनगर छोर पर पहुंचा तो बैरियर देखकर दंग रह गया । पुल पर बस के खड़े होने की स्थिति में सड़क पर घंटो जाम लग गया । सूचना पर पहुँची पुलिस ने पुल को वनवे कराकर किसी तरह भीषण जाम पर निजात पाया। देर रात पुल पर गाड़ियों की संख्या कम होने पर पुलिस की मदद से बस को वापस उल्टे दिशा में सामनेघाट की ओर लौटाया गया ।

इस सम्बन्ध में बस चालक पीलीभीत निवासी राजवीर ने बताया कि बस में नेपाल के बेलौरी निवासी तीर्थयात्री है, जो आज दिन में वाराणसी के तीर्थ स्थलों पर दर्शन करने के बाद गया दर्शन को जा रहे थे । पुल पर सामनेघाट की ओर न तो कोई बैरियर था और न ही कोई पुलिस कर्मी,जिस कारण ऐसा हुआ ।

लगातार शहर के अन्दर नो इंट्री के बाद ट्रकों का आवागमन, कई बार राजघाट पुल पर यात्री बसों का गुज़रना और अब रामनगर पुल पर बेधड़क यात्री बस का गुज़रना कुछ और ही बात की तरफ इशारा कर रहा है। फिलहाल अधिकारियों को इसपर संज्ञान लेने की आवश्यकता है।

विज्ञापन