नारस। सियासत में कुछ भी परमानेंट नहीं, नेता दल बदलते हैं, तो प्रशंसकों के आइडल आइकॉन भी बदल जाते हैं। कभी पीएम नरेंद्र मोदी के लिए साईकल पर घूम-घूम कर प्रचार करने वाले उनके हमशक्ल अभिनंदन पाठक उनसे नाराज हैं। साल 2014 लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी के लिए जी जान से प्रचार करने वाले अभिनंदन पाठक ने बीजेपी और पीएम मोदी के खिलाफ चुनावी ताल ठोंकने का मन बना लिया है।

शुक्रवार को अभिनंदन पाठक ने लखनऊ से गृहमंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल करने के बाद एलान कर दिया कि वे 26 को वाराणसी से भी नामांकन दाखिल करेंगे। उन्होंने कहा कि वे एक डमी उम्मीदवार नहीं हैं और किसी के खिलाफ नहीं बल्कि ‘जुमला’ के खिलाफ हैं। उन्होंने अपनी जीत का दावा करते हुए कहा कि वे राहुल गांधी के पीएम उम्मीदवारी का समर्थन करेंगे।

पाठक ने आरोप लगाया कि लोगों ने अच्छे दिन के लिए मोदी सरकार को चुना था, मगर साल दर साल स्थितियां बदतर होती चली गईं, यही वजह है कि अब लोगों का विश्वास मोदी सरकार से उठ गया है। अभिनंदन पाठक ने। याद भी आरोप लगाया था कि लोग बीजेपी और पीएम मोदी से नाराज होने के चलते, उन्हें पीटकर अपना गुस्सा निकालने लगे थे।

सहारनपुर के रहने वाले अभिनंदन पाठक ने आरोप लगाया कि एक समय इलेक्शन कैम्पेन में बीजेपी ने उनका खूब इस्तेमाल किया। वर्ष 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव और 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी की रैलियों में वह आकर्षण का केंद्र बने रहते थे।

विज्ञापन