रामनवमी : धर्म की नगरी काशी में मुस्लिम महिलाओं ने उतारी भगवान राम की आरती

0
24

नारस। पूरे भारत में आज राम नवमी हर्षोउल्लास के साथ मनाई जा रही है। वही काशी में रामनवमी पर अद्भुत क्षण देखने को मिला जब मुस्लिम बहनों ने रामनवमी पर राम आरती और श्रीराम प्रार्थना में हिस्सा लिया। इस मौके पर हिन्दू और मुस्लिम सम्प्रदाय की महिलाओं ने एक साथ मिलकर इस पर्व को उल्लास के साथ मनाया।

संकटमोचन मंदिर बम ब्लास्ट के बाद विशाल भारत संस्था की मुस्लिम महिला नाज़नीन अंसारी और अन्य हिन्दू और मुस्लिम महिलाओं ने संकटमोचन मंदिर में सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ किया था। गंगा जमुनी तहज़ीब की इस काशी धरती पर यही मुस्लिम महिलाएं तब से आज तक हर वर्ष रामनवमी और दीपावली पर भगवान् श्रीराम की आरती और स्तुति करती आ रही हैं। इसी क्रम में रामनवमी के मौके पर लमही स्थित इंद्रेश नगर में विशाल भारत संस्था के आफिस पर मुस्लिम महिलाओं ने भगवान् श्रीराम की आरती कर उनकी स्तुति की।

इस सम्बन्ध में मुस्लिम महिला नाज़नीन अंसारी ने बताया कि भगवान् राम हमारे पूर्वज हैं क्योंकि हम सभी भारतवासी हैं। इसलिए आज उनके जन्मदिवस पर हिन्दू मुस्लिम महिलाओं ने मिलकर भगवान् राम की आरती की हैं और उनसे प्रार्थना की है। वहीं नज़मा परवीन ने राम नवमी के मौके पर भगवान् राम से एक बार फिर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाये जाने की प्रार्थना की और कहा कि जितना विकास इस सरकार में हुआ है शायद ही किसी सरकार में हुआ होगा, इसलिए हम चाहते हैं की यह सरकार दुबारा से आये।

विशाल भारत संस्था के अध्यक्ष राजीव श्रीवास्तव ने इस मौके पर बताया कि आज मुस्लिम महिलाओं ने भगवान् राम की आरती करके साम्प्रदायिक एकता का सन्देश दिया है। उन्होने बताया कि चाहे कितने भी नफरत के बीज बोये जाएं काशी हमेशा से गंगा जमुनी तहज़ीब और कबीर, तुलसी और बिस्मिल्लाह खां की धरती रही हैं और हमेशा रहेगी।