नारस। संविधान निर्माता डॉ बाबा भीमराव अंबेडकर का 128 वीं जयंती कचहरी स्थित अंबेडकर स्मारक पर बड़े धूमधाम से मनाया गया।

इस अवसर पर सामान्य ज्ञान, चित्रकला एवं भाषण प्रतियोगिता, संगोष्ठी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर मुख्य वक्ता डॉ बीपी अशोक ने कहा कि भारत में हिन्दू शासक है, तब तक पिछड़ा वर्ग शोषित वर्ग है। जिस दिन पिछड़ा वर्ग अपनी पहचान बौद्ध के रूप में स्थापित कर लेगा उस दिन इस देश में हिन्दुओं की गुलामी से स्वतंत्र होकर शासक भी हो सकता है।

वही कार्यक्रम के विशिष्ट वक्ता प्रोफ़ेसर चौधरीराम यादव ने कहा कि बाबासाहेब बौद्ध थे, भारत बौद्ध राष्ट्र था। हम सभी बौद्ध है। आज इसे स्थापित करने की आवश्यकता है।

इसके साथ रामबचन वित्त एवं लेखाधिकारी ने कहा कि आज भारत में बौद्ध अध्ययन को बढ़ावा देने की आवश्यकता है, जिससे भारत का इतिहास सुरक्षित रह सके।

विज्ञापन