नारस। जनपद वाराणसी में तीन लोकसभा सीटें आती हैं। वाराणसी, चंदौली और मछलीशहर। छठे चरण में जहां 12 मई को मछली शहर लोकसभा सीट पर के लिये मतदान होंगे वहीं सातवें और आखिरी चरण 19 मई को वाराणसी और चंदौली लोकसभा सीट पर वोटिंग होगी। इन दोनों चरणों को सकुशल संपन्न कराने के लिये वाराणसी जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी और उनकी टीम तन्मयता से जुटी हुई है।

सोमवार को बडा लालपुर स्थित टीएफसी में जिलाधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने पीठासीन अधिकारी और प्रथम मतदान अधिकारी के लिए चयनित 1200 लोगों को ट्रेनिंग दी और मतदान सम्बंधित जानकारियां दी। इस दौरान आडियो-वीडियो माध्यम से भी मतदान की प्रक्रिया के बारे में समझाया गया।

इस सम्बन्ध में जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि जनपद में दो चरणों में मतदान होना हैं। 12 मई और 19 मई को जनपद के पोलिंग बूथों पर मतदान होगा। उसके मद्देनजर 12 सौ पीठासीन अधिकारी और प्रथम मतदान अधिकारी की ड्यूटी में लगे कर्मचारियों को एक ही छत के नीचे ट्रेनिंग दी गयी है। इसमें ईवीएम और वीवीपैट सम्बन्धी थ्योरिटिकल ट्रेनिंग के अलावा प्रेज़ेंटेशन और ऑडियो विज़ुअल माध्यम से भी ट्रेनिंग दी गयी है।

जिलाधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि इसके अलावा हमारी टीम ने एक महीने के अथक प्रयास से इस ट्रेनिंग का खाका खींचकर उसे सफलता पूर्वक करवाया है। इसके अलावा इस बार वेब साइट पर इन सभी ट्रेनिंग और कैसे ईवीएम और वीवीपैट कार्य करेगी की जानकारी डाली गयी है ताकि कोई दिक्कत आने पर वेबसाइट पर जाकर चेक किया जा सके।

वहीं आज की ट्रेनिंग में सभी कर्मचारियों और ट्रेनिंग लेने वालों की सुविधाओं का ख्याल रखा गया है। ऐसी हाल में सभी को ट्रेनिंग दी गयी है ताकि किसी भी प्रकार की उन्हें टेंशन न हो और वो सरलता और सहजता से ट्रेनिंग पर ध्यान दे सके और सही मतदान करवा सकें। उनके खाने पीने और सभी सुविधाओं का ख्याल रखा गया है।

देखें वीडियो

तस्वीरें

विज्ञापन