shambhunath sahni arrest from bhadohi
भदोही पुलिस की गिरफ्त में आरोपी शंभूनाथ साहनी

नारस। पिछले साल 14 सितम्बर को दशाश्वमेध थानाक्षेत्र के देवनाथपुरा में हुई गोलीबारी में मृत बदमाश राकेश अग्रहरि के हत्यारोपी शंभूनाथ साहनी को पुलिस ने भदोही के औराई से गिरफ्तार कर लिया है। इस हत्याकांड में शामिल एक अन्य हत्यारोपी रईस बनारसी की घटना के दिन ही क्रॉस फायरिंग में मौत हो गयी थी।

दी गयी थी 7 लाख की सुपारी !
आरोप है कि औराई से गिरफ्तार शंभूनाथ साहनी ने अपने भाई और सपा नेता प्रभु साहनी की 11 मई 2018 को हुई हत्या का बदला लेने के लिये रईस बनारसी और उसके साथियों को सात लाख रुपये की सुपारी दी थी। प्रभु साहनी की चौक थानाक्षेत्र में सिंधिया घाट पर बदमाशों ने दिन दहाडे गोली मारकर हत्या कर दी थी।

गोलियों की तडतडाहट से गूंज उठा था दशाश्वमेध इलाका
इसके बाद 14 सितम्बर की शाम दशाश्वमेध इलाके के देवनाथपुरा इलाके में हुई ताबडतोड गोलीबारी में जहां राकेश अग्रहरि की मौत हो गयी थी, वहीं क्रॉस फायरिंग में जख्मी हुए बदमाश रईस बनारसी ने नई सडक स्थित लंगडे हाफिज मस्जिद की चौखट पर दम तोड दिया था। बीच शहर बदमाशों के बीच
हुई फायरिंग से पुलिस महकमा भी सकते में आ गया था।

भाई की मौत का बदला लेने के लिये रची गयी थी साजिश !
घटना की तहकीकात में ये बात सामने आयी की प्रभु साहनी हत्याकांड में बदला लेने के लिये शंभूनाथ साहनी की ओर से रईस बनारसी और उसकी टीम को सात लाख रुपये की सुपारी दी गयी थी, जिसमें राकेश अग्रहरि को मौत के घाट उतारना था।

ये बदमाश हैं आरोपी
राकेश अग्रहरि हत्याकांड में जिन अन्य बदमाशों पर आरोप हैं उनमें, बडी पियरी निवासी रोशन उर्फ़ किट्टू गुप्ता, छत्तातले थाना चौक निवासी शाहरुख अहमद, हकाकटोला थाना चौक निवासी अमन, पुराना पुल थाना सारनाथ निवासी अब्दुल्ला, हौजकटोरा थाना चौक निवासी शहंशाह, नई बस्ती थाना चौक निवासी दीपक वर्मा और रईस बनारसी के नाम शामिल हैं।

महाराजगंज तिराहे से हुई गिरफ्तारी
राकेश अग्रहरि हत्याकांड के बाद पुलिस ने शंभुनाथ साहनी पर 15 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। इसके बाद भदोही पुलिस ने इसे अवैध तमंचे और कारतूस के साथ औराई थाने के महाराजगंज तिराहे से गिरफ्तार कर लिया है।

देखें वीडियो

विज्ञापन