नारस। पूरे देश में ‘चौकीदार चोर है’ का नारा बुलंद कर रही कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने वाराणसी में चौकीदार का समर्थन कर दिया। उनसे जब पूछा गया कि कांग्रेस ने अभी तक वाराणसी से प्रत्याशी नहीं उतारा है तो उन्होंने तपाक से कहा चिंता मत कीजिये कोई अच्छा और बेहतर चौकीदार लेकर आएंगे। वहीं योगी आदित्यनाथ के संभल में दिए गए बयान के जवाब में राजबब्बर की ज़ुबान फिसल गयी और सीएम को बाबा के चोले का अपमान करने वाला कह डाला।

बेहतर चौकीदार लाएगी कांग्रेस
जौनपुर के लोकसभा प्रत्याशी देवव्रत मिश्र आज नामांकन करेंगे। उनके नामांकन में शामिल होने के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजब्बर जौनपुर पहुंचे हैं। वो जौनपुर में कांग्रेस प्रत्याशी की सद्भावना पुल के समीप आयोजित सभा को सम्बोधित करने के बाद जुलूस में शामिल होंगे। इसके पहले वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पर राजबब्बर से जब पूछा गया क़ी अभी तक आप ने वाराणसी से प्रत्याशी नहीं उतारा है तो पास खड़े अजय राय के कंधे पर हाथ रखकर बोले की हमारे पास प्रत्याशियों की कमी नहीं है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जी ने सपेंस बनाये रखने को कहा है तो उसे बने रहने दीजिये हम बेहतर चौकीदार लेकर आएंगे यहाँ।

विज्ञापन

भाजपा की मानसिकता साध्वी प्रज्ञा ने की उजागर
भोपाल से भाजपा प्रत्याशी और मालेगांव आतंकी हमले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के द्वारा शहीद हेमंत करकरे पर दिए गए विवादित बयान पर बोलते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजब्बर ने कहा कि एक शहीद का अपमान करना ये अपने आप में राष्ट्रद्रोह है। वह पार्टी जो खुद को राष्ट्रभक्त पार्टी कहलाती उसकी प्रत्याशी ने ये बयान दिया है। इसपर मोदी जी को जवाब देना चाहिए की किस तरह की राष्ट्रभक्ति है ये कि एक सिपाही देश के लिए शहीद हो जाता है और उसके लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है। साध्वी प्रज्ञा जैसे लोगों को टिकट देकर भाजपा ने अपनी मानसिकता उजागर की है कि कितने देशभक्त हैं ये लोग।

बाबा नहीं रखते चोले की गरिमा
सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा शुक्रवार को संभल में दिए गए बयान कि यूपी के दो चरणों के चुनाव में सभी 16 सीटों पर कांग्रेस और सपा- बसपा गठबंधन को ज़ीरो मिला है क्योंकि ज़ीरो का ज़ीरो से गुणा करने पर ज़ीरो ही आता है के जवाब में राजब्बर ने हस्ते हुए कहा कि बाबा ने कभी अच्छी बात बोली है। वो बाबा का चोला तो पहनते है पर उसकी गरिमा का ख्याल नहीं करते।

प्रियंका के पार्टी छोड़ने का दुःख है
कांग्रेस की पूर्व प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कल पार्टी छोड़ शिवसेना का दामन थाम लिया। इस बयान पर राजबब्बर ने कहा कि व्यक्ति दुखी होता है तो फैसला लेता है। उनका दुःख ज़्यादा था। इसके अलावा वो मुंबई से चुनाव लड़ना चाहती थी जो नहीं हो पाया। राजब्बर ने कहा कि मुझे दुःख है कि वो पार्टी छोड़कर गयी।

देखें वीडियो

विज्ञापन
Loading...