नारस। बीएचयू के महिला महाविद्यालय के पूर्व छात्रा संगठन द्वारा बुधवार को को हेरिटेज सभागार में ‘तनाव मुक्ति में संगीत की भूमिका’ विषय पर सेमीनार आयोजित किया गया।

व्याख्यान का उद्देश्य परीक्षा के समय छात्राओं को तनाव से किस प्रकार दूर रखा जाये इसके लिये विशिष्ट वक्तव्य के लिए प्रो ऋचा कुमार, प्रो अंजलि रानी, प्रो स्वरवन्दना एवं डाॅ मनीषा मेहरोत्रा को आमंत्रित किया गया।

विज्ञापन

कार्यक्रम के प्रारंभ में प्राचार्या प्रो चन्द्रकला त्रिपाठी एवं अतिथियों द्वारा मालवीय जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया गया। कुलगीत महिला महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा प्रस्तुत किया गया।

अतिथियों का स्वागत तुलसी के पौधे एवं अंगवस्त्र देकर किया गया।प्राचार्या प्रो चन्द्रकला त्रिपाठी द्वारा स्वागत वक्तव्य दिया गया। अतिथियों का परिचय प्रो ज्योत्सना श्रीवास्तव अध्यक्ष, पूर्व छात्रा संगठन ने दिया।

संगीत करता है तनाव को कम

इस अवसर पर संगीत विशेषज्ञ प्रो ऋचा कुमार एवं प्रो स्वरवन्दना, वसंत कन्या महाविद्यालय ने बताया कि आवश्यकता से अधिक काम को एक सीमित समय में पूरा करना तनाव देता है लेकिन तनाव जब आवश्यकता से अधिक हो जाये तो नकारात्मक प्रभाव पड़ता है तथा परीक्षा की तैयारी पर भी सकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है। संगीत विद्या तनाव को कम करने का सबसे आसान साधन है।

वही प्रो अंजलि रानी एवं डाॅ0 मनीषा मेहरोत्रा तनाव को नियंत्रित करने में नैतिक मूल्यों का विशेष योगदान के महत्व पर प्रकाश डाला जो विद्यार्थियों को अवश्य ही व्यवस्थित रूप से परीक्षा की तैयारी में सहायक होगा। धन्यवाद ज्ञापन डाॅ सीमा दास ने दिया एवं कार्यक्रम का संचालन डाॅ उर्वशी गहलौत ने किया।

विज्ञापन
Loading...