आखिर शालिनी यादव ने क्‍यों छोड़ा कांग्रेस का साथ, राहुल गांधी को पत्र लिखकर बतायी व्‍यथा

0
131

नारस। दिग्‍गज कांग्रेसी नेता, राज्‍यसभा के पूर्व उपसभापति, पूर्व केंद्रीय मंत्री और वाराणसी के पूर्व सांसद स्‍वर्गीय श्‍यामलाल यादव की पुत्रवधु शालिनी यादव ने अब जबकि समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है और सपा की ओर से उन्‍हें वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा गया है, तो सबके जेहन में ये सवाल उठ रहे हैं कि आखिर शालिनी यादव ने कांग्रेस को अलविदा क्‍यों कहा।

स्वर्गीय श्याम लाल यादव, दिग्गज कांग्रेसी नेता

राहुल गांधी को लिखी है चिट्ठी
2017 में शालिनी ने वाराणसी नगर निगम के लिये कांग्रेस के टिकट पर मेयर पद के लिये चुनाव लड़ा था, जिसमें वे दूसरे नंबर पर रहीं। खांटी कांग्रेसी पृष्‍ठभूमि की शालिनी यादव ने कांग्रेस का दामन छोड़ने से पहले राहुल गांधी को एक चिट्ठी लिखकर अपनी व्‍यथा कही है।

बाहुबलियों-भ्रष्‍टाचारियों को प्रश्रय देने का आरोप
चिट्ठी में शालिनी यादव ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि पार्टी ने इस लोकसभा चुनाव में बाहुबलियों और भ्रष्‍टाचारियों को टिकट दिया है। उन्‍होंने लिखा है कि कांग्रेस के उन समर्पित कार्यकर्ताओं की घोर उपेक्षा की गयी है, जिन्‍होंने हर दम पार्टी के लिये सड़क पर लाठी डंडे खाये हैं।

लखनऊ में समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने के दौरान अखिलेश यादव के साथ शालिनी यादव

महिलाओं से की वादाखिलाफी
शालिनी यादव ने राहुल गांधी को लिखी चिट्ठी में इस बात पर दु:ख प्रगट किया है कि दिल्‍ली में हुई कांग्रेस महासमिति की बैठक में खुद पार्टी अध्‍यक्ष ने महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण की बात कही थी, मगर लोकसभा चुनाव में जब टिकट देने की बारी आयी तो पार्टी ने वादाखिलाफी की।

शालिनी यादव, सपा नेता, (वाराणासी से लोकसभा प्रत्याशी)

कांग्रेस अध्‍यक्ष को बतायी अपनी ताकत
शालिनी यादव ने अपने पत्र में इस बात का अहसास भी पार्टी कराया है कि 2017 में हुए वाराणसी नगर निगम के चुनाव में उन्‍हें वाराणसी में कांग्रेस के पिछले 15 साल के चुनावी राजनीति में सबसे ज्‍यादा वोट हासिल हुए। साथ ही मेयर चुनाव के इतिहास में भी कांग्रेस प्रत्‍याशी को मिले वोटों में उन्‍हें सर्वाधिक मत प्राप्‍त हुए थे। इसके अलावा पिछले दो लोकसभा चुनाव में वाराणसी से कांग्रेस के प्रत्‍याशियों को मिले वोटों से भी उन्‍हें 40 हजार वोट ज्‍यादा मिले, जबकि वाराणसी लोकसभा क्षेत्र और वाराणसी नगर निगम क्षेत्र में दुगने से ज्‍यादा मतदाताओं का फर्क है।

पढ़ें, शालिनी यादव का राहुल गांधी को लिखा गया खत