नारस। बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर गुरुवार को पहली बार गठबंधन के मंच पर पहुंचे और उन्होंने मंच साझा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैंने सेना एम् मिल रहे जवानों को खराब खाने का वीडियो इसलिए वायरल किया था क्योंकि मुझे लगाता कि प्रधानमंत्री भरोसे के लायक हैं पर यह मेरी गलती थी। मुझे सेना से बर्खास्त किया गया,मेरे बेटे की हत्या की गयी और मेरा नामांकन भी खारीज करवा दिया गया।

गठबंधन प्रत्याशी शालिनी यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस में पहुंचे तेज बहादुर ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को इस बात काभान पहले से ही था कि मेरा पर्चा खारिज किया जाएगा। इसी रणनीति के आधार पर शालिनी जी दोनों ने नामांकन किया था। सेना के जवान को कोई हरा नहीं सकता इसलिए अब मै शालिनी जी के लिए पूरे शहर में घूम घूम कर वोट की अपील करूँगा। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव आयोग ने मेरे साथ अन्याय किया है।

विज्ञापन

तेज बहादुर ने कहा कि मुझे रोकने के लिए एक नोटिस जारी किया गया जिसका जवाब मैंने दिया तो फिर तुरंत एक और नोटिस जारी किया। मेरी वकीलों की टीम चुनाव आयोग गयी तो वहां संबित पात्रा, धर्मेन्द्र प्रधान चुनाव आयोग पहुच गए। यहां के रिटर्निंग ऑफिसर पर दबाव डाला जा रहा था बार बार, लोकतंत्र की हत्या हो रही है। ऐसी हालत में वो दिन दूर नही जब देश दुबारा गुलाम हो जाये।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।