वाराणसी लोकसभा चुनाव : चुनावी खर्च में भाजपा आगे, कांग्रेस दुसरे नंबर पर

0
15

नारस। नामांकन से लेकर 5 मई तक के चुनावी खर्च के ब्योरे में भाजपा वाराणसी संसदीय सीट पर आगे है। प्रेक्षक के समक्ष प्रतुत ब्योरे के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार साहित्य अन्य मदों के खर्च में अभी तक भाजपा ने 5 लाख से अधिक की धनराशि और कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी अजय राय के लिए 3 लाख से अधिक की धन राशि खर्च की है। वहीं सपा प्रत्याशी शालिनी यादव ने ब्योरा प्रस्तुत करने के लिए समय माँगा है। वहीं 15 प्रत्याशियों को नोटिस भी जारी की गयी है।

नामांकन से मतगणना के बीच लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों को तीन बार खर्च का ब्यौरा प्रेक्षक के समक्ष प्रस्तुत करना है। साथ ही प्रतिदिन के खर्च को रजिस्टर में भी दर्ज करना है। 29 अप्रैल को ख़त्म हुए नामांकन के बाद 5 मई को पहली बार चुनाव प्रेक्षक के सामने प्रत्याशियों ने खर्च का ब्योरा प्रस्तुत किया। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चुनाव खर्च में 5 लाख से अधिक और अजय राय के चुनावी खर्च में 3 लाख से अधिक का ब्योरा प्रस्तुत किया गया। सपा प्रत्याशी शालिनी यादव की ओर से एक लाख रुपये से ज्यादा का ब्योरा दिया गया, मगर पूर्ण विवरण के लिए तीन दिन का समय मांगा गया है।

इस सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व सतीश पाल ने बताया कि चुनाव खर्च का विवरण नहीं देने वाले 15 प्रत्याशियों को नोटिस जारी किया गया है। जिसमे चुनाव आयोग की ओर से आशीन, अमरेश मिश्रा, अनिल कुमार चौरसिया, आशुतोष कुमार पांडेय, अतीक अहमद, बृजेंद्र दत्त त्रिपाठी, चंद्रिका प्रसाद, हीना शाहिद, ईश्वर दयाल, मनोज आनंद राव पाटिल, राकेश प्रताप, शेख सिराज बाबा, सुनील कुमार, सुन्नम इस्तारी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सुरेद्र राजभर को नोटिस जारी किया गया है।