बनारस के अधिवक्ताओं के बीच पहुंचे CM योगी, जताया अपनापन, गिनायी PM मोदी की उपलब्धियां

0
28

नारस। अपनी उपेक्षा का आरोप लगाकर खुलकर बीजेपी से नाराजगी व्यक्त कर चुके वाराणसी के अधिवक्ताओं को मनाने आखिरकार प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ पहुंच ही गये। बुधवार शाम पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने जनसभा से पहले सांस्कृतिक संकुल में अधिवक्ता सम्मेलन में शामिल हुए।

हम अधिवक्ताओं के हित के लिये हमेशा तत्पर
मुख्यमंत्री ने बनारस के अधिवक्ताओं से आह्वान किया कि बीते 5 वर्षों में देश के प्रधानमंत्री वाराणसी के सांसद पीएम मोदी ने सर्वाधिक विकास कार्य किए और इन विकास कार्यों को और गति देने के लिए काशी का अधिवक्ता समाज एकजुट होकर दमदार जीत दर्ज कराए। इस दौरान उन्होंने अधिवक्ताओं के लिए कई लाभकारी योजनाएं जो कि प्रदेश सरकार ने की है और करने वाली हैं, जिनमें अधिवक्ताओं के पेंशन व आवासीय योजना का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अधिवक्ताओं के हित के लिए सदैव तत्पर है।

किया पीएम मोदी की योजनाओं का गुणगान
इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने अधिवक्ताओं के सामने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपलब्धियों का बखान किया। सीएम योगी ने कहा कि देश मे मोदी सरकार आने के बाद वैश्विक स्तर पर भारत का सम्मान बढ़ा है। उन्होंने बताया कि देश मे अलग अलग कार्यो में 5 वर्ष में 100 लाख करोड़ से ऊपर का निवेश हुया है। 37 करोड़ गरीबो का आजादी के बाद बैंक में खाता खुला है। 50 करोड़ गरीबो को निशुल्क स्वास्थ सुविधायें मुहैया करवायी गयी हैं और वो भी बिना किसी भेदभाव के।

एकजुटता दिखाएं अधिवक्ता
मुख्यमंत्री ने अधिवक्ता समाज से आह्वान किया कि एक बार फिर मोदी सरकार बनाने के लिये सभी एकजुटता दिखाएं। सीएम योगी ने कहा कि आज नई काशी दुनिया के सामने है। आज काशी में हर तरफ नई सडकें बन रही हैं जो नई काशी को प्रदर्शित कर रही हैं। उन्होंने कहा कि काशी को उसकी प्राचीन परंपरा से जोड़ना का कार्य भी हुआ है।

बनारस वालों को ही लडना है पीएम का चुनाव
सीएम योगी ने अधिवक्ताओं के सम्मेलन में विगत पांच वर्षों में हुए कार्यो और योजनाओं के बारे में भी बताया। मुख्यमंत्री ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रबुद्ध जनो के सम्मलेन में दिये वक्तव्य कि काशी के लोगो ने मुझे गोद लिया है, को अधिवक्ताओं के सामने कहते हुए मांग की कि काशी का चुनाव पीएम मोदी ने काशीवासियों के हवाले किया है अब यहां नरेन्द्र मोदी का चुनाव बनारस के लोगों को ही लडना है।

इस मौके पर सेंट्रल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष शिवपूजन सिंह गौतम, बनारस बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश मिश्रा, प्रदेश के राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी, वाराणसी शहर उत्तरी के विधायक रविंद्र जायसवाल समेत सैकड़ों अधिवक्ता मौजूद रहे।

नाराज चल रहे थे अधिवक्ता
बता दें कि बीते अप्रैल माह में वाराणसी के अधिवक्ताओं ने ये कहकर हडकंप मचा दिया था कि अगर बीजेपी के वरिष्ठ नेता उनकी उपेक्षा करते रहेंगे तो आगामी चुनाव में उन्हें भारी कीमत चुकानी पड सकती है। अधिवक्ताओं ने तब कहा था कि 2014 में हमने नरेन्द्र मोदी जी की जीत के लिये काफी मेहनत किया था लेकिन एक के बाद एक केंद्र और प्रदेश की सत्ता में काबिज हुई बीजेपी ने अधिवक्ता समाज के हित के लिये कोई कदम नहीं उठाया। यहां तक कि बीजेपी का कोई बडा नेता हमसे मिलने तक नहीं आया। वकीलों की इस चेतावनी के बाद प्रदेश सरकार में मंत्री और वाराणसी कचहरी के वरिष्ठ अधिवक्ता रहे डॉ नीलकंठ तिवारी ने अपने साथियों को मनाने के साथ ही मुख्यमंत्री के साथ मुलाकात कराने का आश्वासन दिया था। इसी क्रम में मुख्यमंत्री बुधवार को वाराणसी में अधिवक्ताओं के सम्मेलन में पहुंचे।