नारस। वाराणसी पहुंचे भाजपा के चाणक्य कहे जाने वाले पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को आखिरकार गढ़वा घाट आश्रम से जीत का आशीर्वाद मिल ही गया। ये बात खुद गढ़वा घाट के महंत शरणानंद महाराज ने मीडिया से बातचीत में बतायी। यदुवंशी समाज की आस्था का बड़ा केंद्र माने जाने वाले गढ़वा घाट आश्रम में अमित शाह का फूल बरसा कर स्वागत किया गया। इस दौरान अमित शाह ने यहां आयोजित संत समागम में भी हिस्सा लिया।

छठें और सातवें चरण में वाराणसी में होने वाले लोकसभा के चुनाव से पहले अमित शाह का गढ़वा घाट आश्रम पहुंचना राजनीतिक पंडितों के बीच चर्चा का विषय बन गया है।

विज्ञापन

गढ़वा घाट आश्रम पहुंचने पर आश्रम के साधु-संतों ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का स्वागत किया। इसके बाद अमित शाह ने आश्रम में गुरुओं की समाधी पर मत्था टेका और गोशाला में गायों को गुड-केला खिलाया। इसके बाद शाह ने आश्रम के महंत स्वामी शरणानंद जी महाराज से व्यक्तिगत मुलाकात की और उनसे जीत का आशीर्वाद लिया।

मीडिया से बातचीत में महंत स्वामी शरणानंद जी महाराज ने बताया कि उन्होंने अमित शाह को विजयी होने का आशीर्वाद दिया है। इसके बाद उन्होंने बताया कि, ”मैंने अमित शाह को उन्नति करने का और उत्तम स्वास्थ्य का भी आशीर्वाद दिया है।”

गढ़वा घाट आश्रम के महंत स्वामी शरणानंद जी महाराज ने बताया कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यहां दर्शन के लिए आए थे और आशीर्वाद लिये हैं और आशीर्वाद लोग किस लिये लेते हैं यह सबको पता हैं। स्वामी शरणानंद का कहना था कि जिस तरीके से सब लोगों को आशीर्वाद मिलता है इस आश्रम से उसी प्रकार उन्हें भी मिला है। स्वामी शरणानंद का कहना था कि उन्होंने जीत का आशीर्वाद तो नहीं मांगा लेकिन उनकी जीत तय है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गढ़वा घाट आश्रम में मत्था टेकने के बाद अब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के भी आश्रम पहुंचने पर कयास लगाये जाने लगे हैं कि यहां से आशीर्वाद लेकर पार्टी यादवों के वोट बैंक में सेंध लगाने में सफल होना चाहती है।

देखें वीडियो

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।