नारस। सामान्य लोकसभा निर्वाचन 2019 के शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित मतदान सम्पन्न कराने के लिए शुक्रवार को पुलिस लाइन में पुलिस बल को ट्रेनिंग दी गई। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्द्र सिंह द्वारा जिले की फोर्स के साथ ही अन्य जिलों से आयी पुलिस फोर्स को मतदान कराने की ट्रेंनिंग दी गयी । उन्होंने कहा कि पहले के चरणों में सामने आयी कमियों और समस्याओं से सबक लेते हुए बेहतर तरीके से चुनाव करायें।

विज्ञापन

स्थापित होंगे वोटर सहायता बूथ
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि मतदान के दिन हर मतदाता केन्द्र पर वोटर सहायता बूथ स्थापित किये जायेंगे, जिसपर बीएलओ अल्फाबेटिकल मतदाता सूची के साथ बैठकर उन मतदाताओं को क्रम सं,भाग सं व बूथ सं बतायेंगे जिन्हें किसी कारण से मतदाता पर्ची नहीं मिली होगी। पोलिंग एजेंट भी बूथों पर मतदाता सूची के साथ मौजूद रहेंगे और मतदाता की पहचान करेंगे लेकिन वे सूची लेकर मतदान केन्द्र से बाहर नहीं जा सकेगे।

सुरक्षाकर्मी नहीं जाचेंगे किसी की पहचान
ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि किसी भी राजनीतिक पार्टी का टेंट (बस्ता) मतदान केंद्र के 200 मीटर की परिधि के बाहर ही लगाया जा सकेगा और 100 मीटर की परिधि में कोई चुनाव प्रचार भी नहीं किया जा सकेगा। सुरक्षाकर्मियों को किसी की पहचान जांचने का अधिकार नहीं होगा यदि कोई व्यक्ति किसी भी प्रकार से व्यवधान उत्पन्न करता है तो उसकी पहचान कर कार्यवाही कर सकेंगे।

न हो ईवीएम की मिस हैंडलिंग
उन्होंने बताया कि पोलिंग बूथ के अन्दर पोलिंग पार्टी, माइक्रो आब्जर्वर, चुनाव आयोग के प्रेक्षक, जिला निर्वाचन अधिकारी, एसडीएम, इलेक्शन एजेंट तथा बिना किसी चुनाव चिन्ह के उम्मीदवार को जाने का अधिकार है। गलत सूचना देने वालों को चिन्हित कर कार्रवाई करें। ईवीएम की सुरक्षा सबसे बड़ा दायित्व है और इसकी मिस हैण्डलिंग भी न हो इसको सुरक्षित रखना पूरी पोलिंग टीम की जिम्मेदारी है। लोगों को सुरक्षा का वातावरण देकर फ्री, फेयर, न्यूट्रल तथा एथिकल चुनाव करा कर मिसाल कायम करें। उक्त सभी कार्यों में पुलिस बल से सहयोग की पूरी उम्मीद जताई और शुभकामनाएं दी।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।