नारस। जनपद के रोहनिया थाने के थानेदार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में नेकर धारी थानेदार साहब वादियों को गालियों की झड़ी के साथ समझा तो रहे हैं पर कह रहे हैं ‘चुनाव के बीच कोई निर्माण नहीं होगा। तुम लोग मोदी जी का चुनाव खराब करने के लिए विवाद कर रहे हो।’

फिलहाल वादी महिला की शिकायत पर मामले की जांच एसएसपी ने सीओ सदर को सौंपी है।

विज्ञापन

इस सम्बन्ध में एसएसपी से गुहार लगाने वाली रोहनिया थाने के लाठिया गांव निवासी धन्नी देवी का आरोप है कि 11 मई की सुबह वह अपनी जमीन पर निर्माण करा रही थी, तभी पड़ोसी हक जताने लगे। फिर डायल 100 पर फोन करके पुलिस बुला ली, जो धन्नी देवी को पति समेत रोहनिया थाने ले गई।

धन्नी देवी के मुताबिक थाना प्रभारी परशुराम त्रिपाठी नेकर और टीशर्ट पहने जनसुनवाई कर रहे थे। उसका मामला सामने आया तो थानेदार गालियां देने लगे। अपशब्द कहते हुए कहा कि चुनाव के बीच में कोई निर्माण नहीं होने दूंगा। तुम लोग मोदी जी का चुनाव ख़राब करवाना चाहते हो।

महिला ने इस बात का विरोध किया तो उन्होंने उसको महिला कांस्टेबलों द्वारा पिटाई की धमकी दे डाली। धन्नी देवी का आरोप है कि थानेदार ने उसे धक्का दे दिया, जिससे वह गिर पड़ी। पति ने जब कागज दिखाया तो उसे भी थप्पड़ मारकर हवालात में बंद कर दिया। इसी बीच धन्नी देवी की हालत बिगड़ी तो एम्बुलेंस में उसे मंडलीय हॉस्पिटल ले जाया गया।

आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने विरोधियों संग गांव में जाकर उसकी झोपडी को भी तोड़ दिया। पति से जबरन लिखित समझौता पत्र लिया गया कि अब वे निर्माण नही करंगे।

धन्नी देवी ने बताया कि जब वह अस्पताल से डिस्चार्ज हुई तो उसने एसएसपी से लिखित शिकायत की, जिसपर सीओ सदर को जांच के आदेश दिए गए हैं।

इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वहीं इस समबन्ध में जब सीओ सदर को फोन लगाया गया तो उनका फोन नहीं उठा।

 

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।