गिरफ्तार हत्यारोपी

नारस। 13 मई की सुबह जगतगंज स्थित होटल दि विला इन में दिल्ली निवासी इवेंट मैनेजर शिल्पा का शव मिला था। उसकी गला दबाकर हत्या की बात सामने आई थी। इस मामले में पुलिस द्वारा दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। मगर आपको जानकार हैरानी होगी कि इन दोनों की दो दिन के भीतर दो बार अलग अलग जगह से गिरफ्तारी की गयी है।

विज्ञापन

पुलिस ही जाने पुलिस की माया

दरअसल 13 मई को वारदात के बाद 14 मई को अखबार में शिल्पा के हत्यारोपी नसीम और हेमलता को प्रयागराज रोडवेज से गिरफ्तार करने की बात छपी। बावजूद इसके 24 घंटे के भीतर ही वाराणसी पुलिस ने इन्हें दुबारा से मंडुआडीह रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। अब ये कारनामा कैसे हुआ, क्या पहले वाली गिरफ्तारी के बाद ये दोनों प्रयाग राज पुलिस के चंगुल से भाग निकले थे। पुलिस ही जाने पुलिस की माया।

14 मई को अखबार में छपी खबर

क्या कहती है वाराणसी पुलिस

फिलहाल वाराणसी पुलिस के पीआर सेल की ओर से जो जानकारी दी गयी है उसके अनुसार दिनांक 15.05.19 को प्रभारी निरीक्षक चेतगंज मय पुलिस बल लहुराबीर चौराहे पर पहुँचे तो मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि मुकदमा अपराध संख्या 120/19 धारा 302 भादवि के वांछित अभियुक्त नसीम एवं हेमलता मण्डुआडीह रेलवे स्टेशन के बाहर खडे किसी व्यक्ति का इंतजार कर रहे हैं। यदि जल्दी किया जाये तो इन्हें पकडा जा सकता है।

भागने का करने लगे प्रयास

मुखबिर से मिली इस सूचना पर विश्वास करके थाना चेतगंज पुलिस रेलवे स्टेशन मण्डुआडीह के पास पहुँची तथा रेलवे स्टेशन के बाहर गेट के सामने मन्दिर के पास एक लडका व लडकी खडे थे। थाना चेतगंज पुलिस द्वारा जैसे ही इन दोनों को पकडने का प्रयास किया तो दोनों ने भागने का प्रयास किया किन्तु पुलिस टीम द्वारा स्टेशन के सामने सडक पर पकड लिया गया।

बरामद हुए 52 हजार रुपये

पकडे जाने पर नाम पता पूछते हुए जामा तलाशी ली गयी तो लड़के ने अपना नाम नसीम अहमद पुत्र खलील अहमद बताया जिसके के पास से 50 (पचास) हजार रुपये नगद बरामद हुआ। लडकी ने अपना नाम हेमलता उर्फ प्रिया उर्फ पूजा बताया जिसके पर्स से दो हजार रुपये नगद बरामद हुए।

बरामद रुपयों के बारे में पूछने पर दोनों ने बताया कि हम दोनों ने मिलकर दिनांक 12/13.05.2019 की रात्रि में होटल डे विला इन के कमरा नं0 102 में शिल्पा पुत्री हरिश कुमार नि0 डी-118ए-डी ब्लाक ईस्ट विनोद नगर दिल्ली नाम की लडकी की उसके हाथ पैर बांधकर गला घोंटकर हत्या कर दी थी।

इन धाराओं में भेजे गये जेल

दोनों ने उसके पर्स से 50 (पचास) हजार रुपये लेकर होटल से सुबह निकल गये थे। आज दोनों जब टैक्सी का इंतजार कर रहे थे तभी उन्हें पकड़ लिया गया। पकडे गये व्यक्ति मुकदमा अपराध संख्या 120/19 धारा 302 आईपीसी के वांछित अभियुक्त हैं। इस मुकदमा में धारा 392/411/34 आईपीसी की बढोत्तरी करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया गया है।

इन पुलिसकर्मियों ने किया गिरफ्तार गिरफ्तारी/बरामदगी करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार मय हमराह उप निरीक्षक अतुल कुमार प्रजापति, उप निरीक्षक प्रीतम कुमार तिवारी, उप निरीक्षक बैद्यनाथ सिंह, हेड कांस्टेबल महारानीदीन यादव, हेड कांस्टेबल घनश्याम सिंह, कांस्टेबल बृजबिहारी ओझा, कांस्टेबल विनोद कुमार सिंह, महिला कांस्टेबल आयुषि शिखा, महिला कांस्टेबल गीता, कांस्टेबल जितेन्द्र सिंह, कांस्टेबल देवानन्द प्रसाद व कांस्टेबल हरिकेश गौंड शामिल रहे।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।