नारस। सीएम योगी के बयान पर शिवपाल यादव ने वाराणसी में पलटवार करते हुए कहा कि बेचैन तो उन्हें होना चाहिए जिन्हे सरकार बनानी है। वहीं उन्होंने ये भी दावा किया कि इस बार हमारे बिना सरकार का गठन नहीं होगा हम सरकार में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री लगातार अपनी सभाओ में शिवपाल यादव को बेचारा और बेचैन सम्बोधित करते आ रहे हैं।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव आज बनारस में हैं। उनकी पार्टी ने वाराणसी और चंदौली संसदीय सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन का एलान किया है। पत्रकारों से बातचीत में शिवपाल यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी से हमें जानबूझकर अलग किया गया। हमने काफी दिन इंतज़ार किया। उसके बाद अपनी पार्टी बना ली है। अब कदम आगे बढ़ गया है इसलिए पीछे हटने का सवाल ही नहीं बनता है। इसी पार्टी को हम मज़बूत बनाएंगे और आगे बढ़ाएंगे।

विज्ञापन

वहीँ प्रदेश में अकेले लड़ने पर उन्होंने कहा कि हमने प्रयास किया था सभी सेक्युलर पार्टियों से कि हमें भी गठबंधन में शामिल किया जाए पर किसी ने हमें गठबंधन में शामिल नहीं किया। इसका नतीजा सभी को भोगना पडेगा और लोग चुनाव परिणाम आने के बाद पछताएंगे। वहीं उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद भी हम सेक्युलर पार्टियों से जुड़ सकते हैं क्योंकि हम भी सेक्युलर हैं लेकिन हमें पूरा सम्मान मिलेगा तब।

सीएम योगी द्वारा ये कहना कि 24 मई को बुआ और बबुआ में लड़ाई होगी के सवाल पर बोलते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि देश की जनता मायावती और अखिलेश को भली भांति पहचानती हैं। सब कोई उनके बारेमे समझ चुके हैं और आप सब जानते हैं कि मायावती को सत्ता चाहिए चाहे जैसे भी ये किसी की नहीं हैं और अखिलेश भी किसीके नहीं हैं क्योंकि जो बाप का अपमान कर सकता है वो किसी का नहीं हो सकता है।

पश्चिम बंगाल की घटनाको उन्होंने दुर्भाग्यपूर्ण बताया और चुनाव आयोग से निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।