नारस। डीरेका में बुधवार को उत्तर मध्य रेलवे, पूर्वोत्तर रेलवे एवं केंद्रीय रेल विद्युतीकरण संगठन के सहयोग से प्रेक्षागृह में वेंडर मीट सम्मेलन का आयोजन किया गया।

विज्ञापन

इस अवसर पर सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए सामग्री प्रबंधन रेलवे बोर्ड वीपी पाठक ने कहा कि भारतीय रेल एवं आपूर्तिकर्ताओं दोनों का ही उद्देश्य देश की सेवा है। हमारा प्रयास है कि भारतीय रेल में आपूर्तिकर्ताओं को मैत्रीपूर्ण वातावरण मिले।

वही उन्होंने डीरेका की सफलताओं का चर्चा करते हुए कहा कि इतनी तेजी से इसके उत्पादन प्रक्रिया को डीजल से इलेक्ट्रिक रेल इंजनों में बदला नि:संदेह यह सराहनीय है। साथ ही उन्होंने कन्वर्जन लोको की सफलता पर भी डीरेका को बधाई एवं शुभकामना दी।

आपूर्तिकर्ताओं को दिया सुझाव 
इसके साथ ही वीपी पाठक ने सम्मेलन में आपूर्तिकर्ताओं को सुझाव दिया कि वे विकास के लिए उन्ही पुर्जों का चयन करें, जिसके निर्माण के लिए उनके पास पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर हो। क्योंकि आधे अधूरे इंफ्रास्ट्रक्चर से क्वालिटी पुर्जों का निर्माण संभव नहीं है।

उन्होंने डीरेका द्वारा रेल इंजनों के उत्पादन में लगातार की जा रही वृद्धि का उल्लेख करते हुए रेल इंजनों के उच्चस्तरीय कार्य निष्पादन एवं विश्वसनीयता के लिए क्वालिटी युक्त पुर्जों की आपूर्ति पर बल दिया है।

वही वेंडर मीट सम्मेलन के दौरान वीपी पाठक ने रेलवे के प्रमुख अधिकारीयों  उत्तर मध्य रेलवे की पुस्तिका ‘बुकलेट फॉर प्रोस्पेक्टिव वेंडर्स’ का विमोचन किया।

 

विज्ञापन
Loading...