दुष्कर्म के आरोप में फरार नवनिर्वाचित सांसद अतुल राय को वाराणसी कोर्ट ने दी 1 जून तक की मोहलत

0
1865

नारस। दुष्कर्म के आरोप में फरार चल रहे घोसी लोकसभा सीट से नवनिर्वाचित सांसद अतुल राय ने कोर्ट के आदेश के बाद भी अभी तक समर्पण नहीं किया है। मंगलवार को वाराणसी में न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम) आशुतोष तिवारी की अदालत में आरोपी सांसद के वकील ने अतुल राय के समर्पण के लिए मोहलत मांगी है।

चुनाव पूर्व अतुल राय पर वाराणसी के लंका थाने में एक युवती ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। इसके बाद से ही अतुल राय फरार हैं। रिपोर्ट दाखिल होने के बाद अतुल राय के अधिवक्ता अनुज यादव ने मंगलवार को कोर्ट में आवेदन देकर कहा कि इस मामले में थाने से रिपोर्ट आ गई है। ऐसे में आरोपी को अदालत में समर्पण करने के लिए आने वाले समय में पत्रावली में सीमित तारीख 4 जून को पेश होने की अनुमति दी जाए।

अदालत ने आवेदन पर सुनवाई करते हुए अतुल राय को अदालत के समक्ष समर्पण करने के लिए 1 जून की तारीख पक्की कर दी है।

इसके साथ ही कोर्ट ने इस मामले में कार्यालय को भी इसी तारीख को पत्रावली सहित और भी संबंधित दस्तावेज पेश करने के निर्देश दिए हैं। बसपा नेता अतुल राय पर इससे पूर्व भी डाफी टोल प्लाजा पर हुई मारपीट मामले में मुकदमा दर्ज है।

वाराणसी के डीएलडब्लू में पले बढ़े अतुल राय को पूर्वांचल के बाहुबली मुख्तार अंसारी का काफी करीबी माना जाता है। फरार होने के बावजूद और मोदी लहर में भी अतुल राय ने महागठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर घोसी संसदीय सीट से लोकसभा का चुनाव जीतकर सबको हैरत में डाल दिया है।