LT ग्रेड परीक्षा में धांधली का हुआ भंडाफोड़, वाराणसी से STF ने आरोपी को दबोचा 

0
428

नारस। यूपी एसटीएफ ने लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित एलटी ग्रेड परीक्षा 2018 में हुई धांधली का भंडाफोड कर दिया है। एसटीएफ ने इस धांधली में शामिल मुख्य आरोपी सिक्योरिटी प्रिंटिंग प्रेस के मालिक कौशिक कुमार को वाराणसी से  गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार आरोपी कौशिक कुमार

गिरफ्तार जालसाज सुकांतनगर, सेक्टर – 4 साल्ट लेग सिटी। कोलकाता  24 परगना, पश्चिम बंगाल का  रहने वाला है। एसटीएफ ने उसके पास से 3 एटीएम, 1 पैन कॉर्ड, 1 मोबाइल, 1 ट्राली बैग बरामद किया है।

डीजीपी ने दिया था कार्रवाई का आदेश 
यूपी पुलिस को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली करने वाले गिरोह के बारे में जानकारी मिल रही थी। जिसको लेकर यूपी के डीजीपी ने एसटीएफ यूपी को परीक्षाओं में धांधली करने वाले गिरोह के ऊपर कार्रवाई करने का निर्देश दिया था।

इसी दौरान पुलिस उपमहानिरीक्षक, सीआईडी पश्चिम बंगाल ने एक पत्र पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ यूपी को भेजा। इसी क्रम में साल्ट केक सिटी कोलकाता निवासी अशोक देव चौधरी ने एक प्रार्थना पत्र दिया जिसमे उसने वाराणसी में 29 जुलाई 2018 में आयोजित एलटी ग्रेड की परीक्षा में हुए धांधली के बारे में पुलिस को अवगत कराया।

परीक्षा से एक दिन पहले पर्चा किया था आउट 
इस धांधली के सम्बन्ध में अशोक देव चौधरी ने  बताया कि 28 जुलाई 2018 को वाराणसी में यूपीपीएससी की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के हिंदी एवं सामाजिक विषय का प्रश्न पत्र आउट कराया गया था। जिसमे 50 अभ्यर्थियों को एक जगह एकत्रित कर प्रश्न पत्र पढ़ाया गया था। जिसको लेकर बड़ी मात्रा में पैसो की लेनदेन हुई थी।

कार्रवाई को लेकर हुआ टीम का गठन 
इस मामले का खुलासा करने के लिए पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ ने अभिषेक सिंह एसएसपी एसटीएफ यूपी के नेतृत्व में पुलिस अधीक्षक सत्यसेन यादव, पुलिस उपाधीक्षक अलोक सिंह को निर्देशित किया गया। जिसके अनुपालन में विनोद कुमार सिंह पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी के निर्देशन में निरीक्षक विजेंद्र शर्मा द्वारा शिकायतकर्ता अशोक देव चौधरी को बुलाकर कर वार्ता की गई तथा तथ्यों से अवगत होकर अभिसूचना संकलन की कार्रवाई शुरू की गयी।

20 लाख में हुआ था सौदा 
इस पुरे मामले को सुलझाने के लिए एसटीएफ ने कुछ अभियार्तियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि अजय चौहान, अजित चौहान जो मूलतः जौनपुर और गाजीपुर के रहने वाले है। हम लोगों से 20 लाख रूपए में एलटी ग्रेड परीक्षा पास करवाने की जिम्मेदारी ली थी।

वही कौशिक कुमार के बारे में शिकायतकर्ता अशोक देव चौधरी ने 27 मई को  एसटीएफ को बताया कि वह अपने सहयोगियों से मिलने के लिए तथा नए प्रतियोगी परीक्षा में प्रश्न पत्र आउट कराने को लेकर वाराणसी आया है। जिसके बाद एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में जालसाज कौशिक कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक ने आगामी परीक्षा प्रश्न पत्र छापने के लिए दिया है।

कबूला  किया जुर्म 
आरोपी कौशिक कुमार ने बताया कि मैंने उत्तर प्रदेश में 2018 में हुई एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती का प्रश्न पत्र छापा था, जितने प्रश्न पत्र छापने का आर्डर मिला था। उससे कुछ अधिक प्रश्न पत्र छापा था।