वाराणसी में ऐसे बनायी जा रही थी अवैध शराब, छापेमारी में पकड़ाया काला कारोबार

0
745

नारस। बाराबंकी में जहरीली शराब की वजह से 20 से ज्यादा लोग काल के गाल में समा गये। साथ ही 10 लोगो की आंख की रोशनी चली गयी और 30 से ज्यादा लोग अभी भी अस्पताल में भर्ती है। ऐसे में इस घटना के बाद बुधवार को वाराणसी की आबकारी टीम और पुलिस ने बड़ागांव इलाके में जमकर छापेमारी की है। छापेमारी की कार्रवाई के बाद 4 दर्जन से ज्यादा कच्ची शराब के भट्टियों को नष्ट किया गया है।

आबकारी निरीक्षक रामकृष्ण ने बताया बड़ागांव इलाके में सबसे ज्यादे कच्ची शराब बनने की सूचना मिल रही थी। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम के साथ आज छापेमारी की गई है। यहां लोग रोजगार की तरह अवैध शराब का कारोबार करते है।

आबकारी निरीक्षक ने बताया कि पहले भी एफआईआर दर्ज करते हुए कई बार कार्रवाई की गयी है। आज 20 कुंटल लहन नष्ट किया गया और 100 लीटर कच्ची शराब बरामद किया गया है। छापेमारी को देखते हुए शराब कारोबारी भाग खडे हुए। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नही हुई है।

उन्होंने बताया कि शहर में भी कई स्थानों को चिह्नित किया गया है, जहां अवैध शराब का कारोबार हो रहा है। हालांकि, ग्रामीण इलाकों में ये कारोबार ज्यादा हो रहा है। इन शराब को बेहद गंदगी में तैयार करने के बाद बोतल या पैकेट में भरकर बेचा जाता है। जिससे लोगों की तबियत बिगड जाती है।

देखें वीडियो, वाराणसी में आबकारी विभाग की छापेमारी

देखें तस्वीरें