रामनगर बालगृह में कर्मचारी द्वारा बच्चों से बदसलूकी पड़ी महंगी, DM ने की निलंबन की सिफारिश

0
55

नारस। सोमवार को रामनगर में स्थित राजकीय बालगृह के बच्चों द्वारा आटा गूथने और टॉयलेट साफ़ करवाने का वीडियो वायरल होते ही हड़कंप मच गया था। इस वीडियो की सत्यता की जांच करने रात में ही प्रोबेशन अधिकारी रामनगर बालगृह पहुंचे थे। उन्होंने अपनी जांच प्रभारी जिलाधिकारी गौरांग राठी को रात ही सौंप दी थी जिसपर कार्रवाई करते हुए उन्होंने तत्काल प्रभाव से दोषी कर्मचारी अनिल राय को वहां से हटा दिया।

बालगृह का वीडियो वायरल होने के बाद पहुंचे प्रोबेशन अधिकारी ने बच्चों से पूछताछ की जिसमे बच्चों ने कर्मचारी अनिल राय का नाम लिया। बच्चो ने बताया कि वो मारने के सतह साथ गाली-गलौज भी करते हैं साथ ही अपनी गाड़ी भी साफ़ करवाते हैं। प्रबोशन अधिकारी की जांचके बाद की गयी सिफारिश पर अनिल राय को बालगृह से हटा दिया गया है।

मंगलवार को जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने इस प्रकरण की जांच रिपोर्ट के आधार पर उक्त कर्मचारी को निलंबित करने के लिए निदेशक महिला कल्याण और अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण को पात्र लिखा है

बच्चों से संवाद के दौरान अनिल राय नामक कर्मचारी का नाम बच्चों ने लिया जो गाली-गलौज देने के साथ मारने-पीटने के साथ अपने वाहन की सफाई से लेकर टॉइलट तक साफ करवाने का काम करता था। बच्चों के बयान के बाद आरोपी कर्मचारी को जिला प्रोबेशन अधिकारी की सिफारिश पर वहां से हटा दिया गया। उधर मंगलवार को डीएम सुरेंद्र सिंह ने बच्चों से बदसलूकी करने वाले कर्मचारी अनिल राय को निलंबित करने और अनुशासनात्मक जांच की संस्तुति के लिए निदेशक महिला कल्याण और अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण को खत लिखा है।