वाराणसी के इस विधायक पर लगे 600 करोड़ रुपये गबन के आरोप, ग्रामीणों ने की सीबीआई जांच की मांग

0
146

नारस। जिला मुख्यालय पर आज उस समय अजीबो गरीब स्थिति उत्पन्न हो गयी जब 50 संख्या में मौजूद ग्रामीणों मौजूदा अजगरा विधायक कैलाश नाथ सोनकर की प्रतीकात्मक शव यात्रा लेकर जिला मुख्यालय के गेट पर पहुंचे। ग्रामीणों का आरोप था कि खादी ग्राम उद्योग से लोन के नाम पर बहका कर कैलाशनाथ सोनकर ने सभी का पैसा हड़प लिया लोन का और अब बैंक के कर्ज़दार ग्रामवासी बने हुए हैं। उन्होंने इस मामले की निष्पक्ष सीबीआई जांच की मांग की है।

इस सम्बन्ध में धरना दे रहे अजगरा के निवासी आनंद कुमार ने बताया कि खादी ग्राम उद्योग से कैलाश नाथ सोनकर ने बैंक से मिलकर हम सभी से कहा कि आप सब लोग एक-एक लाख रूपये का लोन ले लें, भरना कुछ नहीं होगा। इसके बाद हम सभी को उसने एक लाख से लेकर 25 लाख तक का लोन दिलवाया। हमारा अकाउंट बैंक में खुलवाया और जैसे ही पैसा आया सब उसने ले लिया। हमने जब शिकायत की तो किसी को कभी 10 हज़ार कभी 20 हज़ार करके एक एक लाख रूपये तक दिया है लेकिन चार साल में आज तक पूरा पैसा हम 1200 लोगों को नहीं मिला।

आनंद ने बताया कि एक साल पहले बैंक से हम लोगों को कर्ज़ा न चुकाने पर बैंक से नोटिस आयी तो हमें सच्चाई का पता चला। यह 600 करोड़ के गबन का मामला है जिसमे 1200 पीड़ित हैं और पूरा पैसा विधायक कैलाश नाथ सोनकर ने हड़पा है। हमने जब पता किया तो हम सभी के ऊपर अभी 20 लाख का क़र्ज़ है।

हमने आज तक पांच बार धरना दिया है। आज हम सभी प्रतीकात्मक शव यात्रा निकालकर यहाँ उसका दाह-संस्कार करेंगे और हमारी प्रधानमंत्री, प्रशासन और सरकार से मांग है कि इस सम्बन्ध में निष्पक्ष सीबीआई जांच कराई जाए ताकि ग़रीबों को इन्साफ मिल सके।